संजय राउत बोले- मंत्रालय की छठी मंजिल पर उतर गया हमारा ‘सूर्य यान’, मजाक उड़ाने वाले देखते रह गए

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में भी बीजेपी पर निशाना साधा। शिवसेना ने कहा सभी की शेखी हवा में उड़ गई है। आखिरकार देवेंद्र फडणवीस की क्षणिक सरकार विश्वासमत से पहले ही गिर गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार गिरने क बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने बीजेपी पर हमला बोला है। संजय राउत ने अपने पुराने बयानों की याद दिलाई। उन्होंने कहा, “मैंने कहा था आपको याद होगा, हमारा ‘सूर्य यान’ मंत्रालय की छठी मंजिल पर सुरक्षित लैंड करेगा। तब लोग मुझ पर हंस रहे थे। लेकिन अब हमारा ‘सूर्य यान’ एक दम सुरक्षित मंत्रालय की छठी मंजिल पर लैंड कर गया है। यह ‘सूर्य यान’ अगर आने वाले समय में दिल्ली में भी उतरे तो आपको आश्चर्य नहीं होगा।”

इससे पहले शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में बीजेपी पर निशाना साधा। शिवसेना ने कहा सभी की शेखी हवा में उड़ गई है। आखिरकार देवेंद्र फडणवीस की क्षणिक सरकार विश्वासमत से पहले ही गिर गई। शिवसेना ने सामना में लिखा, “जिन अजित पवार के समर्थन से फडणवीस ने सरकार बनाने का दावा किया, उन्होंने पहले ही उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। अजित पवार के साथ दो विधायक भी नहीं बचे। जैसे ही इस बात का अंदाजा देवेंद्र फडणवीस को हुआ, उन्होंने भी इस्तीफा दे दिया। भ्रष्ट और गैरकानूनी तरीके से महाराष्ट्र की गर्दन पर बैठी सरकार सिर्फ 72 घंटों में विदा हो गई।”


शिवसेना ने आगे लिखा, “संविधान दिवस के दिन सुप्रीम कोर्ट से फैसले से थैलीशाही और दमनशाही की सियासत करने वालों को झटका लगा, यह भी एक सुखद संयोग कहा जाएगा। सत्ताधारियों ने भले ही लोकतांत्रिक मूल्यों और सिद्धांत का बाजार लगाया, बावजूद सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सब ध्वस्त हो गया। एजेंट पैसों का थैला लेकर विधायकों के पीछे घूम रहे थे। बहुमत खरीदकर हुकूमत करने की कोशिश नाकाम हो गई।

शिवसेना ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा, “बहुमत न होने के बावजूद फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ली, जोकि उन्होंने पहला अपराध किया और जिसके समर्थन से शपथ ली, उन अजीत पवार के ऊपर लगे भ्रष्टाचार के सारे आरोपों को चार घंटे में खत्म कर दिया, यह दूसरा अपराध था। अपराध करने के लिए राजभवन को चुना गया, जहां संविधान की रक्षा की जानी चाहिए, उन संविधान के संरक्षकों ने इस अपराध को कवच पहना दिया।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 27 Nov 2019, 11:01 AM