दिल्ली हिंसा राष्ट्रीय शर्म, मोदी सरकार को राष्ट्रपति याद दिलाएं राजधर्म: मनमोहन सिंह 

राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात के बाद पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने बताया कि उन्होंने राष्ट्रपति से आग्रह किया कि वह राजधर्म की रक्षा के लिए अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करें। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि, ‘राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा शर्मनाक है।’

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर दिल्ली में भड़की हिंसा पर काबू पाने में नाकाम रहने के आरोप लगाए हैं। इसी मामले पर आज (गुरुवार) कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में पार्टी के शिष्टमंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंपा। राष्ट्रपति से मुलाकात करने वाले पार्टी शिष्टमंडल में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस की प्रमुख नेता प्रियंका गांधी, अहमद पटेल और गुलाम नबी आजाद, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और कुछ अन्य नेता शामिल थे।

राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात के बाद पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने बताया कि उन्होंने राष्ट्रपति से आग्रह किया कि वह राजधर्म की रक्षा के लिए अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करें। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि, ‘राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा शर्मनाक है।’


वहीं पत्रकारों से बात करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, ‘हम आपसे (राष्ट्रपति) अपील करते हैं कि गृह मंत्री (अमित शाह) को पद से हटाएं। कांग्रेस अध्यक्ष ने राष्ट्रपति कोविंद से केंद्रीय गृह मंत्री को हटाने की अपील करते हुए कहा कि शाह ने अपने कर्तव्यों का पालन नहीं किया। सोनिया गांधी ने कहा कि, ‘राष्ट्रपति ने कहा कि वह हमारी मांगों का संज्ञान लेंगे, हम काफी संतुष्ट हैं।’

राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात के बाद सोनिया गांधी ने कहा कि हिंसा के कारण 34 लोगों की जान गई है, कारोबारी लूटपाट के शिकार हुए हैं। उन्होंने कहा कि ‘हमने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपकर कहा कि हिंसा के दौरान केंद्र एवं दिल्ली सरकार मूकदर्शक बनी रही।’


इससे पहले बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सोनिया गांधी ने दिल्ली हिंसा के लिए सीधे तौर पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को जिम्मेदार ठहराया था। सोनिया ने इसे अमित शाह का फेलियर बताते हुए इस्तीफे की मांग की थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;