इतिहास में पहली बार! कोरोना ने रोकी मेट्रो की रफ्तार, DMRC ने बंद करने का किया ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू की अपील के बाद अब सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है।। डीएमआरसी ने बताया कि पब्‍लिक सेफ्टी के कारण 22 मार्च मेट्रो सेवा बंद करने का फैसला लिया गया है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना वायरस ने विश्वभर में अबतक 10 हजार से ज्यादा लोगों की जान ले ली है। इस महामारी की चपेट में 2.50 लाख से ज्यादा लोग आ गए हैं। भारत में भी कोरोना के कई केस सामने आ गए हैं, अब तक इस वायरस से 5 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 210 से ज्यादा लोग इस भयानक वायरस से संक्रमित हैं। सरकार की ओर से लगातार कोशिश की जा रही है कि ये वायरस ज्यादा से ज्यादा ना फैले, जिसे लेकर अलग-अलग तरीका अपनाया जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू की अपील के बाद अब सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है। डीएमआरसी ने ऐलान किया है कि जनता कर्फ्यू वाले दिन दिल्ली में मेट्रो सेवाएं बाधित रहेंगी यानी 22 मार्च को आप मेट्रो से सफर नहीं कर पाएंगे। बता दें कि पीएम मोदी ने रविवार को जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। इसके मद्देनजर डीएमआरसी ने 22 मार्च को इसे बंद रखने का फैसला लिया है। डीएमआरसी ने बताया कि पब्‍लिक सेफ्टी के कारण यह फैसला लिया गया है। कोविड- 19 के खतरे को देखते हुए सोशल डिस्‍टेंसिंग बहुत जरूरी है।


पीएम ने की थी जनता कर्फ्यू की अपील

आपको बता दें, कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है। इसको लेकर दिल्ली के बाजारों ने भी इस फैसले में साथ आने का निर्णय लिया है। कई बाजारों के व्यापारी संगठनों ने रविवार को बाजार बंद रखने का निर्णय लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगर जरूरी हो तो ही घर से निकलें।

दिल्ली सरकार ने सभी शॉपिंग मॉल को बंद करने का फैसला किया

इसके अलावा कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली में सभी शॉपिंग मॉल को बंद करने का फैसला किया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर इसका ऐलान किया। इस दौरान मॉल में सब्जी, मेडिकल स्टोर और किराना की दुकानें खुलीं रहेंगी। दिल्ली में मॉल के अलावा सरकार के अंतर्गत आने वाले गैर-जरूरी दफ्तर और सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं। ये फैसला 31 मार्च तक लागू रहेगा। सरकार के सिर्फ उन मंत्रालयों को खुला रखा जाएगा, जिन्हें सीधे रूप से जनता को डील करना है। साथ ही जिन कर्मचारियों की उम्र 55 से ऊपर है, वह घर से काम कर सकते हैं।


इस बीच कारोबारी संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) व चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआइ) ने दिल्ली के बाजारों के साथ ही पूरे देश के बाजारों के संगठनों से बाजार बंद की अपील की है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia