मिताली ने खोला राज, करियर में सचिन तेंदुलकर के बल्ले की अहम भूमिका

मिताली राज महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली बल्लेबाज हैं। इस लंबे सफर में यहां तक पहुंचने में ‘क्रिकेट के भगवान’ यानी सचिन तेंदुलकर के बल्ले का अहम रोल है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

IANS

मिताली राज महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली बल्लेबाज हैं। इसमें उनकी मेहनत और रनों की भूख सबसे बड़ा कारण है। लेकिन इस लंबे सफर में मिताली राज को यहां तक पहुंचाने में 'क्रिकेट के भगवान' कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर के बल्ले का भी रोल है और मिताली राज को लगातार खेलने के लिए प्रेरित करने के लिए सचिन तेंदुलकर के शब्दों का भी। सचिन तेंदुलकर ने एक समय मिताली राज को बल्ला तोहफे में दिया था और मिताली राज ने उस बल्ले खूब रन बनाए। मिताली राज के साथ अभी भी वो बल्ला है। उनका कहना है कि सचिन तेंदुलकर को उन्हें अभी एक और बल्ला तोहफे में देना है।

सचिन तेंदुलकर और मिताली राज अंतर्राष्ट्रीय बालिक दिवस के मौके पर यू्निसेफ द्वारा आयोजित कराए गए कार्यक्रम 'बालिका सशक्तिकरण में खेलों की अहमित' में शिरकत करने आए थे। इस दौरान मिताली ने अपने राज को पहली बार दुनिया के सामने उजागर किया।

सचिन तेंदुलकर ने कहा, "मैं चाहता था कि ये न रुकें इसलिए बल्ला तोहफे में दिया। मैं बल्ला लेकर आया हूं और आपको दूंगा। 2021 (अगला आईसीसी महिला विश्व कप) ज्यादा दूर नहीं है।" मिताली राज जब विश्व कप के बाद भारत लौटी थीं तब उनसे सभी ने सवाल किया था कि क्या वह चार साल बाद विश्व कप में खेलेंगी? इस सवाल का जवाब देते हुए मिताली राज ने कहा था कि वह जब तक फिट हैं तब तक खेलेंगी। लेकिन मिताली राज ने इस कार्यक्रम में अपने अगले विश्व कप में खेलने की संभावनाओं को जिंदा रखने की असल वजह बताई और कहा कि वह सचिन तेंदुलकर के कारण ही प्रेरित होकर अगले विश्व कप की दौड़ में शामिल हैं।

मिताली ने कहा, "जब मैंने 6,000 रन पूरे किए थे तब सचिन सर ने मुझे बधाई दी थी और कुछ ऐसा कहा जो मुझे अभी तक याद है और हमेशा मेरे साथ रहेगा। सचिन ने कहा था कि हार नहीं मानना। अगर तुम्हें लगता है कि तुम कुछ और साल खेल सकती हो तो खेलना। जब मैं विश्व कप खेलकर लौटी तो मुझे सवाल किए गए कि क्या मैं अगला विश्व कप खेलूंगी या नहीं, इस सवाल को सुनकर मुझे सचिन सर की बात याद आ गई थी।"

मिताली राज ने कहा कि आईसीसी महिला विश्व कप फाइनल से पहले उन्होंने सचिन तेंदुलकर से टीम को प्रेरित करने की दरख्वास्त की थी जिसे इस महान बल्लेबाज ने मान लिया था। उन्होंने कहा, "जब हम फाइनल में पहुंचे तो मैंने सचिन सर से कहा कि आप टीम के साथ कुछ वक्त बिताएं और उन्हें प्रोत्साहन दें क्योंकि आपके पास काफी अनुभव है। इन्होंने मेरे उस प्रस्ताव को मान लिया।"

सचिन तेंदुलकर विश्व क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं वहीं मिताली उन्हीं के रास्ते पर चल रहीं हैं और महिला क्रिकेट में रनों के मामले में सबसे आगे हैं।

लोकप्रिय