देश

यूपी के सीएम योगी को जासूसी का डर! बैठक से पहले अधिकारियों के फोन बाहर रखवाए गए

बताया जा रहा है कि योगी सरकार ने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की हैकिंग और जासूसी के खतरे को देखते हुए यह फैसला किया है। इससे पहले मंत्रियों को मोबाइल फोन लाने की अनुमति थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

आईएएनएस

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बुधवार को कानून-व्यवस्था पर होने वाली बैठक से पहले अधिकारियों के फोन बाहर ही रखवा लिए गए। इस दौरान सभी अधिकारियों के मोबाइल ले लिए गए और उनके नाम की पर्ची मोबाइलों पर लगा दी गई। उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था पर लगातार उठते सवालों के बीच मुख्यमंत्री योगी की यह बैठक महत्वपूर्ण मानी जा रही है। वह हर जिले के अधिकारियों से एक-एक मुद्दे पर बात कर रहे हैं।

ज्ञात हो कि इस महीने की शुरुआत में योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट बैठक के दौरान मंत्रियों के मोबाइल फोन लाने पर पाबंदी लगा दी थी। बताया जा रहा है कि योगी सरकार ने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की हैकिंग और जासूसी के खतरे को देखते हुए यह फैसला किया है। इससे पहले मंत्रियों को मोबाइल फोन लाने की अनुमति थी। इस मुद्दे पर विपक्ष ने सरकार को घेरा था। विपक्षियों ने इसे आजादी पर हमला करार दिया था।

जानकर बताते हैं कि योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि मंत्रिमंडल की बैठकों में होने वाली चर्चा पूरी गंभीरता व बिना किसी व्यवधान के हो। मंत्रिमंडल के सदस्यों के बीच यदाकदा मोबाइल फोन अचानक बजने से बैठक में दिक्कतें आती हैं।

लोकप्रिय