लोकतांत्रिक और संसदीय प्रक्रिया की अवमानना कर रही मोदी सरकार, संसद में बिना चर्चा के पास हो रहे बिल: खड़गे

पेगासस जासूसी विवाद और ईंधन की कीमतों में वृद्धि पर चर्चा के मुद्दे पर ऊपरी सदन में गतिरोध के बीच विपक्ष ने आरोप लगाया है कि सरकार संसदीय प्रक्रिया में कटौती कर रही है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पेगासस जासूसी विवाद और ईंधन की कीमतों में वृद्धि पर चर्चा के मुद्दे पर ऊपरी सदन में गतिरोध के बीच विपक्ष ने आरोप लगाया है कि सरकार संसदीय प्रक्रिया में कटौती कर रही है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता, मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि पिछले हफ्ते, बीजेपी सरकार ने 97 मिनट में राष्ट्रीय महत्व के 10 विधेयकों को पास करा दिया। संसद को कृपालु रूप से सरकार द्वारा प्रत्येक विधेयक को प्रतिबिंबित करने, विचार-विमर्श करने और पारित करने के लिए 9.7 मिनट का समय दिया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार लोकतांत्रिक और संसदीय प्रक्रिया की अवमानना कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि समान विचारधारा वाले विपक्षी दल सत्र शुरू होने से लेकर कई मुद्दों पर संयुक्त रूप से सरकार का विरोध करते रहे हैं, लेकिन सरकार नहीं सुन रही है। बुधवार को राज्यसभा में कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा ने संसदीय मामलों के मंत्री द्वारा अन्य मंत्रियों की ओर से रखे गए कागजात का मुद्दा उठाया, जब वे मंत्री मौजूद थे। शर्मा ने कहा कि जब मंत्री मौजूद हों तो यह विलासिता नहीं दी जानी चाहिए, यह सदन का अपमान है।


इस पर अध्यक्ष ने कहा कि कोविड के कारण इसकी अनुमति दी गई है। जब शहरी और आवास मंत्री हरदीप सिंह पुरी अपना बयान दे रहे थे, तब उन्हें तृणमूल सदस्यों द्वारा नारेबाजी का सामना करना पड़ा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia