दिल्ली हिंसा पर शरद पवार का मोदी सरकार पर हमला, कहा- चुनाव नहीं जीत सके तो दिल्ली जला दिया

NCP प्रमुख शरद पवार ने दिल्ली हिंसा को लेकर बीजेपी पर समाज को विभाजित करने का आरोप लगाया है। शरद पवार ने कहा है कि दिल्ली पिछले कुछ दिनों से जल रही है। BJP दिल्ली चुनाव नहीं जीत सका, इसलिए सांप्रदायिकता को बढ़ावा देकर समाज को विभाजित करने का प्रयास किया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली हिंसा को लेकर केंद्र की सत्तारूढ़ पार्टी लगातार सवालों के घेरे में है। अब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। शरद पवार ने दिल्ली हिंसा को लेकर बीजेपी पर समाज को विभाजित करने का आरोप लगाया है। NCP चीफ शरद पवार ने कहा है कि राष्ट्रीय राजधानी पिछले कुछ दिनों से जल रही है।

शरद पवार ने कहा कि केंद्र में सत्तारूढ़ दल दिल्ली विधानसभा चुनाव नहीं जीत सका, इसलिए उन्होंने सांप्रदायिकता को बढ़ावा देकर समाज को विभाजित करने का प्रयास किया। आपको बता दें, रविवार को मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान शरद पवार ने यह बात कही है।

शरद पवार ने आगे कहा कि दिल्ली में पीएम, गृह मंत्री और मंत्रियों ने तनाव फैलाने की कोशिश की। दिल्ली हिंसा के लिए पूरी तरह केंद्र सरकार जिम्मेदार है। शरद पवार ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के विवादित बयान का भी जिक्र किया। शरद पवार ने कहा कि बीजेपी नेताओं और मंत्रियों के गोली मारो बयानों से लोगों में डर है। दिल्ली में चुनाव के वक्त भी शांति भंग करने की कोशिश की गई थी।

बता दें, इससे पहले महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता नवाब मलिक ने भी दिल्ली हिंसा के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा था कि राष्ट्री राजधानी में दंगों के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही और दंगे रोकने की कोशिश नहीं की। उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री पर आरोप लागाया था कि वे स्थिति को संभाल नहीं पाए।

दिल्ली हिंसा के संबंध में 254 एफआईआर दर्ज

दिल्ली हिंसा में पुलिस ने अब तक 903 लोगों को पकड़ लिया है, जबकि 254 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है, जिनमें से 41 केस आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज किए गए हैं। दिल्ली पुलिस ने बताया कि पिछले 4 दिनों से हिंसा को लेकर कोई भी पीसीआर कॉल नहीं आई है। दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने बताया कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में अब हालात सामान्य हैं। कई जगहों से धारा-144 हटाई जा रही है। दिल्ली पुलिस पूरी तरह से सोशल मीडिया पर भी नजर बनाए हुए है।

दिल्ली हिंसा में अब तक 45 लोगों की मौत हो चुकी है

दिल्ली हिंसा में अब तक 45 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 200 लोग घायल हैं। हर दिन मरने वालों का आंकड़ा भी बढ़ता हुआ दिख रहा है। वहीं, नालों और जले हुए घरों-गाड़ियों से भी शव बरामद हो रहे हैं।

लोकप्रिय
next