कंगाली के कगार पर खड़े पाकिस्तान ने अर्थव्यवस्था सुधारने का निकाला तरीका, भ्रष्ट्राचारियों से वसूले 71 अरब

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, यह जानकारी नैब के चेयरमैन न्यायाधीश (सेवानिवृत्त) जावेद इकबाल ने एक बैठक में कहा कि बीते 22 महीने के काम से पता चलता है कि इसने 71 अरब रुपये बरामद कर इन्हें सरकारी खजाने में जमा कराया है जोकि एक रिकार्ड है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नैब) ने बताया है कि देश में बीते 22 महीनों के दौरान भ्रष्ट तत्वों से 71 अरब रुपये (पाकिस्तानी) वसूले गए हैं और इस राशि को सरकारी खजाने में जमा करा दिया गया है।

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, यह जानकारी नैब के चेयरमैन न्यायाधीश (सेवानिवृत्त) जावेद इकबाल ने मंगलवार को दी। उन्होंने नैब बोर्ड की एक बैठक में कहा कि नैब के बीते 22 महीने के काम से पता चलता है कि इसने 71 अरब रुपये बरामद कर इन्हें सरकारी खजाने में जमा कराया है जोकि एक रिकार्ड है।

उन्होंने कहा कि ब्यूरो का लक्ष्य सभी के लिए जवाबदेही निर्धारित करना है और इसे राष्ट्रीय स्तर पर भ्रष्टाचार रोधी नीति बनाकर और सफेदपोश अपराधों को सरकारी तंत्र से उखाड़ फेंककर हासिल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि नैब की कोशिश देश से लूटी गई संपत्ति को वापस देश में लाने की है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की माली हालत खस्ता है, पैसे जुटाने के लिए पाकिस्तान तरह-तरह की कोशिशें कर रहा है। हाल ही के दिनों में पाकिस्तान की ‘सरहद चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री’ के इन्वेस्टमेंट समिट में कुछ अलग ही नजारा दिखा था जब निवेशकों को लुभाने के लिए बेली डांसर्स को बुलाया गया और बाकायदा मंच पर उनको डांस भी कराया गया था।

इसे भी पढ़ें: यह है नया पाकिस्तान, निवेशकों को लुभाने के लिए ‘बेली डांस’ करा रहे हैं इमरान खान

लोकप्रिय
next