पीएम मोदी को मिली नई उपाधि, दिल्ली में उन्हें ‘द लाई लामा’ बताते हुए लगे पोस्टर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘द लाई लामा’ बताते हुए दिल्ली के कई स्थानों पर पोस्टर लगाए गए हैं। इन पोस्टर में पीएम मोदी का फोटो लगा है, और नीचे उन्हें ‘द लाई लामा’ बताया गया है।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
user

नवजीवन डेस्क

पीएम मोदी जितना अपनी शानदार भाषण शैली के लिए जाने जाते हैं, उससे कहीं ज्यादा अपने भाषणों में झूठे तथ्यों के इस्तेमाल के लिए जाने जाते हैं। आए दिन किसी न किसी भाषण में वह ऐसा कोई झूठ या गलत तथ्य बोल देते हैं, जिसपर सोशल मीडिया में जमकर उनकी खिल्ली उड़ती है। हाल ही में कर्नाटक चुनाव के प्रचार में भी उन्होंने जनरल थीमैय्या और जनरल करियप्पा को लेकर अपने भाषण में गलत तथ्य पेश किए थे।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

यही नहीं उनपर अपने भाषणों में लोगों से झूठे वायदे करने के भई आरोप लगते रहें हैं। लोगों को अब तक 15 लाख रुपये देने का उनका वादा याद है। इन सबको लेकर पीएम मोदी का अक्सर मजाक उड़ता ही रहता है, लेकिन अब किसी ने दिल्ली में उन्हें झूठा लामा बताते हुए बजाप्ता पोस्टर ही लगा दिए हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

सुबह-सुबह राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के प्रमुख मार्गों पर लगे इन पोस्टरों को देखकर लोग भी अपनी हंसी नहीं रोक पा रहे हैं। दरअसल पोस्टर में पीएम मोदी की फोटो लगी है औऱ उसपर उनकी नाम की जगह लिखा है, ‘द लाई लामा’। ये पोस्ट किसने और कब लगाए, ये पता नहीं चल सका है। स्थानीय लोगों से पूछने पर उन्होंने कहा कि संभवतः बुधवार की रात ये पोस्टर लगाए गए होंगे।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

ये पोस्टर दिल्ली के पॉश माने जाने वाले इलाके मंदिर मार्ग से लेकर तालकटोरा रोड और शंकर रोड के कट तक देखे जा सकते हैं। मंदिर मार्ग पर स्तित नवयुग स्कूल की दीवारों और गेट के पास भी ये पोस्टर लगाए गए हैं। उसके बाद काली मंदिर, सरकारी कॉलोनी और अन्य इमारतों से सटी दीवारों पर भी दूर तक इन पोस्टरों को देखा जा सकता है।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

मंदिर मारग से होते हुए केंद्रीय सचिवालय पहुंचने तक सड़क की दोनों तरफ ये पोस्टर नजर आ रहे हैं। पोस्टर को देख कर वहां से गुजरनेवाले लोग कोतुहलवश रुक जा रहे हैं। लोगों के बीच इसको लेकर मिश्रित प्रतिक्रिया देखने को मिली।

फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा
फोटोः प्रमोद पुष्कर्णा

हालांकि, अबी ये पता नहीं चला है कि ये पोस्टर किसने और क्यों लगाए हैं। पोस्टर पर लगाने वाले किसी व्यक्ति या किसी संगठन का नाम भी नहीं है। ऐसे में कहना मुश्किल है कि ये पोस्टर किसने लगाए हैं। लेकिन पीएम के भाषणों में लगातार इस्तेमाल किए जाने वाले झूठ और जुमलों को देखकर लगता है कि किसी ने तंग आकर पीएम को द लाई लामा बताते हुए ये पोस्टर लगवाए हैं।

लोकप्रिय
next