पीएम मोदी के गृह राज्य की सच्चाई जानकर रह जाएंगे हैरान, कांग्रेस विधायकों के पूछने पर सामने आई यह बात!

गुजरात पुलिस में 2018 और 2019 में दुष्कर्म के 2,700 से अधिक मामले दर्ज किए गए। इस आंकड़े के अनुसार हर दिन दुष्कर्म के कम से कम तीन मामले हुए हैं। यह जानकारी राज्य सरकार ने विधानसभा में दी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

गुजरात पुलिस में 2018 और 2019 में दुष्कर्म के 2,700 से अधिक मामले दर्ज किए गए। इस आंकड़े के अनुसार हर दिन दुष्कर्म के कम से कम तीन मामले हुए हैं। यह जानकारी राज्य सरकार ने विधानसभा में दी है।

कांग्रेस के विधायकों द्वारा विधानसभा में पूछे गए पश्न के जवाब में गृह राज्यमंत्री प्रदीपसिंह जडेजा ने सदन को बताया कि 2018-2019 के दौरान पुलिस ने राज्य में दुष्कर्म और सामूहिक दुष्कर्म के 2,723 मामले दर्ज किए।

दो सालों में सर्वाधिक 540 मामले अहमदाबाद में दर्ज किए गए। सूरत इस मामले में दूसरे स्थान पर है, जहां 452 मामले दर्ज किए गए, और इसके बाद दुष्कर्म के 158 मामलों के साथ राजकोट तीसरे स्थान पर है। और बनासकांठा जिले में दुष्कर्म के कुल 150 मामले दर्ज किए गए।

दुष्कर्म के सबसे कम मामले जनजातीय डांग जिले में सामने आए, जहां पिछले दो सालों में सिर्फ नौ मामले दर्ज किए गए।

दरियापुर से कांग्रेस विधायक गयासुद्दीन शेख ने कहा, "एक ऐसे राज्य में दुष्कर्म के मामले बढ़ रहे हैं, जहां की सरकार 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' का नारा देने के लिए जानी जाती है। मैं अनुरोध करता हूं कि पीड़ितों को मुख्यमंत्री राहत कोष से कुछ वित्तीय मदद दी जाए।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next