देश के किसान कर्ज के बोझ तले दबे, मोदी सरकार ने अमीर दोस्तों के माफ कर दिए 8 लाख करोड़ रुपये: प्रियंका

प्रियंका गांधी ने कहा कि बीजेपी सरकार मोदीजी के पूंजीपति मित्रों का 8 लाख करोड़ रुपये कर्ज माफ कर चुकी है। ब्लैक मनी वालों के नाम सार्वजनिक करने का दावा करने वाली सरकार इन लोगों का नाम सार्वजनिक क्यों नहीं कर रही है? किस प्रक्रिया से इनके कर्ज माफ किए गए?

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने किसानों की बदहाली और उद्योगपतियों का कर्ज माफ करने के मुद्दे पर बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार को घेरा है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, “जब हमारे देश के किसान कर्ज के बोझ तले दब रहे हैं तब किस नीति के तहत बीजेपी ने अमीर दोस्तों के कर्ज माफ किए? सरकार इन सवालों से बच नहीं सकती।”

प्रियंका गांधी ने आगे कहा, “बीजेपी सरकार मोदीजी के पूंजीपति मित्रों का 8 लाख करोड़ रुपये कर्ज माफ कर चुकी है। ब्लैक मनी वालों के नाम सार्वजनिक करने का दावा करने वाली सरकार इन लोगों का नाम सार्वजनिक क्यों नहीं कर रही है? किस प्रक्रिया से इनके कर्ज माफ किए गए?”

कांग्रेस लगातार किसानों की बदहाली का मुद्दा उठा रही है। कांग्रेस का आरोप है कि केंद्र की मोदी सरकार को किसानों की चिंता नहीं है, उसे सिर्फ उद्योगपतियों की चिंता है। उसका कहना है कि चंद उद्योगपतियों का कर्ज माफ करने के मुद्दे को राहुल गांधी भी लगातार उठाते रहे हैं।

शनिवार को भी कांग्रेस ने उद्योगपतियों का कर्ज माफ करने का मुद्दा उठाया था। कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रिनेत ने प्रेस से बात करते हुए कहा था कि इस देश का प्रत्येक व्यक्ति करदाता है, लगभग 8 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ करने के बावजूद यह नहीं बताया गया कि यह कर्ज किसका माफ हुआ है? यह प्रश्न विचारणीय है, यह गोपनीयता क्यों?

उन्होंने मोदी सरकार से मांग करते हुए कहा था कि कांग्रेस ने मोदी सरकार के सामने तीन मांगे रखी हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की पहली मांग, ‘जिनका कर्ज माफ हुआ है, उनके नाम सार्वजनिक किए जाएं।’ दूसरी यह कि, ‘लोन माफी की प्रक्रिया जांचने के लिए उच्चस्तरीय कमिटी के गठन हो।’ कांग्रेस की तीसरी मांग है कि, ‘उच्चस्तरीय कमिटी बैंकिंग सेक्टर की वित्तीय और व्यवहार्यता और क्षमता का आंकलन करे।’

लोकप्रिय
next