नागरिकता संशोधन कानून पर बवाल के बीच असम के गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू में दी गई ढील

देश भर में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। पूर्वोत्तर में विरोध प्रदर्शन का आलम यह है कि गुवाहाटी में जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे और नरेंद्र मोदी के बीच होने वाली बैठक फिलहाल के लिए रद्द कर दी गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश भर में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। लोग सड़कों पर हैं और मोदी सरकार से इस कानून को वापस लिए जाने की मांग कर रहै है। वहीं, पूर्वोत्तर में इस कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। असम में सबसे ज्याद बुरा हाल है। तनाव के बीच गुवाहाटी में आज सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक के लिए कर्फ्यू में ढील दी गई है। वहीं, मोबाइल इंटरनेट और मैसेजिंग सेवा अभी भी बंद है। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बड़े पैमाने पर प्रदर्शन के बाद गुरुवार शाम से इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी।

गुवाहाटी के अलावा डिब्रूगढ़ में भी कर्फ्यू में छूट दी गई है। यहां पर सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई है।

पूर्वोत्तर में विरोध प्रदर्शन का आलम यह है कि गुवाहाटी में जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे और नरेंद्र मोदी के बीच होने वाली बैठक फिलहाल के लिए रद्द कर दी गई है। विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को इस बात की जानकारी दी। उन्होंने बताय, “जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे की प्रस्तावित भारत यात्रा के संदर्भ में दोनों पक्षों ने आम सहमति से फिलहाल यात्रा को टालने का फैसला लिया है।”

उधर, पश्चिम बंगाल में भी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ उग्र प्रदर्शन हो रहे हैं। शुक्रवार को प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशनों में तोड़फोड़ की और आग लगा दी। प्रदर्शनकारियों ने रेल पटरियों और राजमार्गों पर धरना दिया, जिससे ट्रेन सेवाएं और वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई। मुर्शिदाबाद जिले के बेलडंगा रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारी स्टेशन मास्टर के केबिन में घुस गए। टिकट काउंटर पर तोड़फोड़ की। इसके बाद आग लगा दी। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नागरिकता संशोधन अधिनियम का असम, त्रिपुरा और दूसरे पूर्वोत्तर राज्यों में विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया है। ममता बनर्जी ने सभी विपक्षी पार्टियों से देश भर में इस कानून के खिलाफ आंदोलन खड़ा करने की अपील की है।

Published: 14 Dec 2019, 10:12 AM
लोकप्रिय
next