राजघाट से राहुल की बीजेपी को चुनौती, ‘जातिवादी और दलित विरोधी मोदी सरकार को 2019 में हराकर रहेंगे’

दलितों पर बढ़ते अत्याचार के खिलाफ देश भर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के एक दिवसीय उपवास कार्यक्रम के बाद राहुल गांधी ने कहा कि इस सरकार का रवैया दलितों, आदिवासियों, अल्पसंख्यकों और किसानों के खिलाफ है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट पर चल रहे एक दिवसीय उपवास कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि एक सोच के खिलाफ पूरे देश में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता उपवास पर बैठे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले बीजेपी के नेता ने कहा था कि विपक्ष के लोग जानवर हैं, सच्चाई यह है कि आज हिंदुस्तान में हर आदमी सरकार के विपक्ष में खड़ा है। उन्होंने कहा, “इस सरकार का रवैया दलितों, आदिवासियों, अल्पसंख्यकों और किसानों के खिलाफ है। देश में जो माहौल बनाया गया है वह बीजेपी की विचारधारा की वजह से हुआ है।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी की विचारधारा देश को बांटने, दलितों, आदिवासियों अल्पसंख्यकों को कुचलने की है और हम उसके खिलाफ हैं। उन्होंने कहा, “देश कभी इस बात को स्वीकार नहीं करेगा कि मोदी जी की सरकार इस देश में हिंसा और घृणा फैलाने का काम करे और हम इसी विचारधारा के खिलाफ यहां खड़े हैं और हम सिर्फ आज यहां नहीं खड़े हैं, हम पूरी जिंदगी यहां खड़े रहेंगे और 2019 में हम इनको हरा कर दिखाएंगे।”

दलित मुद्दे को लेकर बीजेपी के दलित सांसदों द्वारा पीएम मोदी जी को चिट्ठी लिखे जाने की बात पर राहुल गांधी ने कहा, “बीजेपी के ये दलित सांसद हमें भी बताते हैं कि मोदी जी घोर जातिवादी और दलित विरोधी हैं। उनके दिल में दलितों के लिए कोई जगह नहीं है। ये बात बिल्कुल साफ है।”

मीडिया और प्रेस की आजादी पर हमलों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पूरे देश में मीडिया को डराया और दबाया जा रहा है। उन्होंने मीडिया के लोगों से कहा कि आप उस साइड खड़े हो, मगर सचमुच में आप भी हमारे साइड खड़े हो क्योंकि हम आपकी भी रक्षा कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “आप ये भी मत भूलें कि हम आपके लिए भी लड़ रहे हैं।” राहुल गांधी ने कहा कि देश का कोई भी व्यक्ति अपने दिल की बात बोल सके इसे ही लोकतंत्र कहते हैं और हम उसकी रक्षा कर रहे हैं। बीडजेपी

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने 9 अप्रैल को दलितों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ते अत्याचारों के खिलाफ देश भर में एक दिन का उपवास उपवास रखा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी राजधानी दिल्ली में राजघाट पर सांकेतिक उपवास रखा। राहुल गांधी के अलावा यहां पर दिल्ली कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन, दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित, कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत, पूर्व मंत्री हारुन युसूफ. अरविंदर सिंह लवली और अन्य कई वरिष्ठ नेता भी शामिल हुए।

देश भर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बीजेपी सरकार के खिलाफ और देश में सांप्रदायिक सौहार्द तथा शांति को बढ़ावा देने के लिए सभी राज्य और जिला मुख्यालयों में एकदिवसीय उपवास रखा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी की प्रदेश इकाइयों के प्रमुखों को समाज के सभी वर्गों में सौहार्द को बढ़ावा देने के लिए एक दिना का उपवास रखने का निर्देश दिया था।

Published: 9 Apr 2018, 5:51 PM
लोकप्रिय