राहुल का मोदी सरकार पर जोरदार हमला, कृषि कानून, बेरोजगारी, चीन से लेकर हाथरस जाते हुए हुई हाथापाई तक पर दिया जवाब

राहुल गांधी ने कहा कि हमारी ये यात्रा मोदी सरकार के तीन काले कानूनों के खिलाफ है। ये मौजूदा सिस्टम को खत्म करने का तरीका है, पहले नोटबंदी, फिर जीएसटी और अब ये कानून लाया जा रहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

नए कृषि कानूनों को लेकर कांग्रेस का विरोध-प्रदर्शन जारी है। मोदी सरकार द्वारा लाए गए इस कानून के खिलाफ राहुल गांधी ट्रैक्टर रैली कर रहे हैं। पंजाब के बाद अब उनकी रैली हरियाणा में होगी। इससे पहले आज पटियाला में मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। राहुल गांधी ने कहा कि हमारी ये यात्रा मोदी सरकार के तीन काले कानूनों के खिलाफ है। ये मौजूदा सिस्टम को खत्म करने का तरीका है, पहले नोटबंदी, फिर जीएसटी और अब ये कानून लाया जा रहा है। राहुल ने कहा कि हम पंजाब और हरियाणा के किसानों की लड़ाई लड़ रहे हैं।

राहुल गांधी ने कहा, "ये जो कानून प्रधानमंत्री जी ने बनाए हैं, ये खेती के मौजूदा ढांचे, खाद्य सुरक्षा के मौजूदा ढांचे को नष्ट करने का तरीका है। ये किसानों पर आक्रमण है और इस आक्रमण को हम रोकेंगे और इन कानूनों के खिलाफ हम लड़ेंगे।" उन्होंने कहा कि अगर इन कानून से फायदा होता तो फिर संसद में डिबेट क्यों करवाई, अगर फायदा है तो कोरोना के वक्त ही क्यों पास किया। अगर मंडियां बंद होंगी, तो उनमें काम करने वालों का क्या होगा।


हाथरस जाते हुए हुई धक्का-मुक्की पर राहुल गांधी ने कहा, "पूरे देश को धकेला जा रहा है, मारा जा रहा है, पीटा जा रहा है। मुझे थोड़ा सा धक्का लग गया तो क्या बड़ी बात है। ऐसी सरकार है अगर हम खड़े होंगे तो धक्का लगेगा, लाठी लगेगी...ठीक है खा लेंगे धक्का क्या बड़ी बात है।" कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर किसी के बेटे या बेटी की हत्या कर दी जाए, फिर मां-बाप को बंद कर दिया जाए और डराया जाए कि सब चले जाएंगे हम बचेंगे। इसी वजह से मैं हाथरस गया और परिवार के साथ खड़ा रहना जरूरी था।

राहुल गांधी ने रोजगार के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरते हुए कहा, "ये देश अपने युवाओं को रोज़गार नहीं दे पाएगा, नरेंद्र मोदी ने ढांचा तोड़ दिया है। अब नरेंद्र मोदी खेती के ढांचे को तोड़ने जा रहे हैं, अगर खेती के ढांचे को तोड़ दिया तो एक तरफ रोज़गार नहीं मिलेगा और दूसरी तरफ भोजन नहीं मिलेगा।"


राहुल ने कहा कि सिर्फ मेरे शब्द नहीं एक्शन पर भरोसा करें, मुझे पंजाब ने काफी कुछ दिया है। जब मेरी दादी ने चुनाव हारा तो घर में कोई नहीं था, लेकिन सिर्फ सिख ही थे। मेरी दादी को हमेशा सिखों ने बचाया, मैं हमेशा पंजाब का कर्जदार रहूंगा। अगर कुछ गलत हो रहा है, तो मैं आवाज़ जरूर उठाउंगा। मैं कमजोर के साथ खड़ा होता हूं, इसलिए शायद राजनीतिक करियर धीमा पड़ा है लेकिन मैं ऐसा ही हूं।

राहुल गांधी ने पटियाला में मोदी सरकार को कई मोर्चे पर घेरा। चीन से चल रहे सीमा विवाद पर राहुल गांधी ने कहा कि पीएम ने कहा था कि हिंदुस्तान की ज़मीन किसी ने नहीं ली, लेकिन 1200 स्क्वायर किमी. जमीन चीन ने ली है। राहुल बोले कि चीन को पता है कि मोदी सिर्फ अपनी इमेज की रक्षा करता है और इमेज बचाने के लिए जमीन हमें मिल जाएगी। राहुल बोले कि ये लोग भारत माता की बात करते हैं लेकिन भारत माता की जमीन ही चीन को दे दी। राहुल गांधी बोले कि पीएम मोदी पत्रकार और चीन दोनों से डरते हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia