कांग्रेस का किसानों, मजदूरों और छोटे व्यापारियों के लिए #SpeakupIndia अभियान, राहुल और प्रियंका की सरकार से ये मांग

कोरोना संकट के बीच असंगठित मजदूरों, इनकम टैक्स नहीं देने वाले लोगों को 10 हजार रुपए देने की मांग कांग्रेस पार्टी ने तेज कर दी है। इसी मांग के समर्थन में आज देशभर में कांग्रेस कार्यकर्ता, नेता, सांसद, विधायक, तमाम जनप्रतिनिधि सोशल मीडिया पर ऑनलाइन कैंपेन स्पीक अप इंडिया चला रहे हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना संकट के बीच असंगठित मजदूरों, इनकम टैक्स नहीं देने वाले लोगों को 10 हजार रुपए देने की मांग कांग्रेस पार्टी ने तेज कर दी है। इसी मांग के समर्थन में आज देशभर में कांग्रेस कार्यकर्ता, नेता, सांसद, विधायक, तमाम जनप्रतिनिधि सोशल मीडिया पर ऑनलाइन कैंपेन स्पीक अप इंडिया चला रहे हैं। इसी कार्यक्रम के तहत कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक वीडियो संदेश जारी किया है।

राहुल गांधी ने इस संदेश में कहा, ‘कोविड के कारण देश में आज एक तूफान आया है, गरीब जनता को चोट लगी है। मजदूरों को भूखा-प्यासा सड़कों पर चलना पड़ रहा है। छोटे कारोबार रीढ़ की हड्डी हैं, जो बंद हो रहे हैं। ऐसे में आज हिंदुस्तान के लोगों को कर्ज की जरूरत नहीं है, बल्कि पैसे की जरूरत है।

राहुल गांधी ने कहा कि मुश्किल के इस समय में कांग्रेस पार्टी सरकार से आज चार मांग करती हैं। उन्होंने कहा कि सरकार हर गरीब परिवार के खाते में 7500 रुपये प्रति महीना 6 महीने तक दे। मनरेगा को सौ दिन की बजाय दो सौ दिन तक किया जाए। छोटे कारोबारियों के लिए एक पैकेज का ऐलान किया जाए और घर लौटते हुए मजदूरों को सुविधा दी जाए।

राहुल गांधी के अलावा प्रियंका गांधी ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर इस तरह का वीडियो डाला। प्रियंका ने कहा कि आज गरीब मजदूर मुश्किल में है और सरकार उसकी मदद नहीं कर रही है। प्रियंका गांधी ने भी सरकार के सामने चार मांग रखीं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने भी मोदी सरकार से कुछ इसी तरह की मांग रखी।

राजस्थान के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने सोशल मीडिया के जरिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि मनरेगा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा करते थे कि यह बेकार की योजना है, लेकिन कोरोना संकट में सबसे ज्यादा लोगों के काम यही योजना आ रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार से मांग कर रही है कि फौरन 10 हजार रुपये किसानों, मजदूरों और छोटे दुकानदारों के खाते में भेजे जाएं। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि मनरेगा के काम को 100 दिन से बढ़ाकर 200 दिन किया जाए।

दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी ने फेसबुक लाइव के जरिए कहा कि कांग्रेस हमेंशा गरीब की आवाज बनी है और कोरोना संकट काल में भी गरीब, मजदूर और प्रवासी श्रमिकों की आवाज को उठाने की काम कर रही है। मोदी सरकार गरीब और मजदूरों को नजर अंदाज कर रही है, लेकिन कांग्रेस कार्यकर्ता इसे लेकर आंदोलन कर रहा है। हमारी सरकार से मांग है कि इस समय टैक्स के दायरे से जो भी लोग बाहर हैं उन्हें 10 हजार की तुरंत आर्थिक मदद की जाए और मनरेगा के काम को 100 दिन से बढ़ाकर 200 दिन किया जाए।

बता दें कि कांग्रेस की ओर से ऑनलाइन कैंपेन चल रहा है, जिसके तहत हर नेता सोशल मीडिया पर अपनी मांगें रख रहा है। राहुल गांधी से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी एक वीडियो संदेश जारी किया था, जिसमें उन्होंने सरकार से मजदूरों के लिए खजाना खोलने को कहा था। इसी तरह तमाम कांग्रेस नेता इस ऑनलाइन कैंपेन में सोशल मीडिया पर संदेश जारी कर रहे हैं।

लोकप्रिय