राफेल डील पर नये खुलासे के बाद राहुल का पीएम पर बड़ा हमला, बोले- बिचौलिये बने मोदी जल्द जाएंगे जेल

राहुल गांधी ने कहा कि डील होने से 10 दिन पहले ही अनिल अंबानी को पता था कि राफेल पर एक एमओयू साइन होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को यह बताना चाहिए कि जिस एमओयू को वे साइन करने जा रहे थे, आखिर उसके बारे में अनिल अंबनी को कैसे पता चला।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

राफेल डील पर हुए नए और बड़े खुलासे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस से बात की। प्रेस को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, “एक ईमेल सामने आया है, इससे जाहिर होता है कि जो बात रक्षा मंत्री, विदेश सचिव, किसी को भी नहीं मालूम थी, वह अनिल अंबानी को मालूम थी कि राफेल पर एमओयू साइन होने वाला है।”

उन्होंने कहा, “डील होने से 10 दिन पहले ही अनिल अंबानी को पता था कि राफेल पर एक एमओयू साइन होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को यह बताना चाहिए कि जिस एमओयू को वे साइन करने जा रहे थे, आखिर उसके बारे में अनिल अंबनी को कैसे पता चला। बात साफ है कि पीएम मोदी ने अनिल अंबानी के लिए बिचौलिये की तरह काम किया है।”

राहुल गांधी ने कहा कि जिस एमओयू के बारे में अनिल अंबानी ने फ्रांस के रक्षा मंत्री से मुलाकात के बारे में जिक्र किया। उसकी जानकारी पीएम मोदी को थी, यहां तक कि रक्षा मंत्री को भी जानकारी नहीं थी। राहुल ने कहा कि एमओयू के बारे में सिर्फ पीएम मोदी को अगर खबर थी तो आखिर उसके बारे में अनिल अंबानी को किसने जानकारी दी? कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि जाहिर इस एमओयू के बारे में अनिल अंबानी को पीएम मोदी ने ही जानकारी दी थी।

राहुल गांधी ने कहा, “जो जानकारी अनिल अंबानी को थी वह एक राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी गोपनीय जानकारी थी। पीएम मोदी इस तरह की गोपनीय जानकारी को किसी को नहीं दे सकते, क्योंकि उन्होंने इसकी शपथ ली थी। लेकिन पीएम मोदी ने इस गोपनीय जानकारी को अनिल अंबानी को दी। अनिल अंबानी को को 10 दिन पहले दुनिया के सबसे बड़े रक्षा सौदे के बारे में पता था। यह अपने आप में एक अपराध है। यह खुद प्रधानमंत्री को जेल में डाल देगा।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “पीएम मोदी ने गोपनीय जानकारी अनिल अंबानी को देकर अपराध किया है। भ्रष्टाचार, सौदे की प्रक्रिया में गड़बड़ी और राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ इन तीनों मामलों में पीएम मोदी दोषी हैं। इन तीनों मामलो में कार्रवाई होगी। कोई नहीं बचेगा।”

गौरतलब है कि ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में राफेल डील पर एक रिपोर्ट छपी है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, एक ईमेल से यह बात सामने आई है कि अनिल अंबानी ने पीएम मोदी के दौरे से कुछ दिन पहले फ्रांस के रक्षा मंत्री से पेरिस में मुलाकात की थी। रिपोर्ट के अनुसार, इस मुलाकात के दौरान राफेल को लेकर होने वाले एमओयू के बारे में अनिल अंबानी ने इस बैठक में चर्चा की थी।

गौर करने वाली बात यह है कि अनिल अंबानी इस यात्रा के दौरान पीएम के प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे। इसी दौरे के दौरान 36 राफेल विमानों के सौदे की घोषणा पीएम मोदी और फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने दोनों पक्षों द्वारा जारी एक संयुक्त बयान में की थी।

लोकप्रिय