किसान आंदोलन पर राहुल गांधी बोले- खेत-देश की रक्षा में तिल-तिल मरे हैं किसान, पर ना डरे हैं किसान, आज भी खरे हैं किसान

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि धरना स्थल पर कई लोगों की मौत के बावजूद किसान तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। लेकिन सरकार को उनकी मौतों से कोई फर्क नहीं पड़ता!

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि धरना स्थल पर कई लोगों की मौत के बावजूद किसान तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। लेकिन सरकार उन पर जरा भी ध्यान नहीं दे रही है।

उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, "अपने खेतों और देश की रक्षा के लिए, किसान धीरे धीरे मर रहे हैं। लेकिन वे डरते नहीं हैं और अपने रुख के प्रति सच्चे हैं।" तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे 500 से अधिक किसानों की अब तक मौत हो गई है। राहुल गांधी ने 500 डेथ ऐट फारमर्स प्रोटेस्ट हैसटैग के साथ ये बाते कही हैं।

बता दें कि पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सैकड़ों किसान पिछले साल 26 नवंबर से राष्ट्रीय राजधानी की कई सीमाओं पर तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। पिछले छह महीनों में विरोध स्थलों पर 500 से अधिक किसान अपनी जान गंवा चुके हैं। किसान तीन कृषि कानूनों को वापस लेने और अपनी उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करने की मांग कर रहे हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 09 Jun 2021, 1:21 PM