"मोदी जी बिजली संकट के लिए किसे दोष देंगे, नेहरू जी को, राज्य सरकारों को, या फिर जनता को?"

राहुल ने पीएम मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अपनी इस ‘नाकामी’ के लिए मोदी पंडित जवाहरलाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराएंगे या फिर राज्यों और जनता को उत्तरदायी बताएंगे।

राहुल गांधी/ फोटो: Getty Images
राहुल गांधी/ फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

देश में गर्मी 100 वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ रही है, वहीं देश के कई राज्य कोयले की कमी और बिजली संकट से जूझ रहे हैं। विपक्षी दल इन सब मुद्दों केंद्र सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी बिजली संकट को लेकर शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। राहुल ने पीएम मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अपनी इस ‘नाकामी’ के लिए मोदी पंडित जवाहरलाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराएंगे या फिर राज्यों और जनता को उत्तरदायी बताएंगे।

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के कुछ पुराने भाषणों के अंश साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘ प्रधानमंत्री जी के ‘वादों’ और ‘इरादों’ के बीच का तार तो हमेशा से ही कटा था। मोदी जी, इस बिजली संकट में आप अपनी नाकामी के लिए किसे दोष देंगे? नेहरू जी को? राज्य सरकारों को? या फिर जनता को ही?’’


कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा ,मोदी जी, बिजलीघरों में कोयला नहीं है। ये कोई ब्रेकिंग न्यूज नहीं बल्कि हर दिन की 24 घण्टे की न्यूज है। देश भर में भीषण गर्मी के बीच भयंकर बिजली कटौती से हाहाकार मचा हुआ है। एक चौथाई से ज्यादा पॉवर प्लांट बंद पड़े हैं और 700 से अधिक ट्रेने रद्द हैं। ये कैसी नई अप्रोच है?

देश के कई हिस्सों में बिजली उत्पादन संयंत्र कोयला संकट का सामना कर रहे हैं। रेलवे ने इससे निपटने के लिए और कोयले की आपूर्ति के लिए कई करीब 670 पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है, ताकि कोयला ले जा रही माल गाड़ियों के फेरों को बढ़ाया जा सके।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 30 Apr 2022, 4:50 PM