जयपुर: मोदी के कार्यक्रम में ही उड़ी ‘स्वच्छ भारत’ मिशन की धज्जियां, खुले में शौच करते नजर आए लाभार्थी

पीएम मोदी की चर्चित ‘स्वच्छ भारत’ मिशन को उस वक्त बड़ा धक्का लगा जब राजस्थान के जयपुर में पीएम के कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे लोगों को खुले में शौच करने क लिए मजबूर होना पड़ा।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

राजस्थान में मोदी सरकार की बहुचर्चित स्वच्छ भारत मिशन की धज्जियां उस उड़ती नजर दिखी, जब पीएम के ही कार्यक्रम में भाग लेने आए लोगों को खुले में शौच करते हुए देखा गया। शनिवार को जयपुर में पीएम मोदी का ‘प्रधानमंत्री- लाभार्थी जनसंवाद’ कार्यक्रम था। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को भी बुलाया गया था। लेकिन कार्यक्रम में बदइंतजामी का आलम ये था कि वहां कहीं भी शौचालय की व्यवस्था नहीं की गई थी। जिसकी वजह से पीएम के कार्यक्रम के लिए सुबह से आए लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। जब लोगों को बर्दाश्त नहीं हुआ तो वे कार्यक्रम स्थल के पास खुले में ही शौच करने लगे।

जयपुर: मोदी के कार्यक्रम में ही उड़ी ‘स्वच्छ भारत’ मिशन की धज्जियां, खुले में शौच करते नजर आए लाभार्थी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीएम के कार्यक्रम के लिए जयपुर की मुहाना मंडी में प्रशासन द्वारा ठहराए गए सरकारी योजना के लाभार्थियों के लिए शौचालय तक की व्यवस्था नहीं की गई थी। जिसकी वजह से कई महिलाओं और पुरूषों को खुले में शौच के लिए मजबूर होना पड़ा। यहीं नहीं, लाभार्थी जिस जगह रुके हैं, वहां पानी का एक टैंक लगा दिया गया है और शौच के लिए कांच की खाली बोतलों के ढेर का इंतेजाम किया गया था। जिसे शौच जाने की जरूरत होती वह आता और कांच की बोतल उठाकर टैंकर से पानी लेता और मैदान में हू खुले में शौच करने चला जाता। मीडिया से बात करते हुए कई लाभार्थियों ने बताया कि कार्यक्रम स्थल के आसपास कोई व्यवस्था नहीं की गई थी, जिसकी वजह से वे लोग खुले में शौच जाने के लिए मजबूर थे। पुरुषो के साथ महिलाओं को भी खुले में शौच के लिए मजबूर होना पड़ा।

जयपुर: मोदी के कार्यक्रम में ही उड़ी ‘स्वच्छ भारत’ मिशन की धज्जियां, खुले में शौच करते नजर आए लाभार्थी

शनिवार को जयपुर पहुंचे पीएम मोदी ने कई सरकारी परियोजनाओं का शिलान्यास ण किया। इस दौरान पीएम ने राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के लाभार्थियों से सीधे संवाद के लिए आयोजित ‘प्रधानमंत्री-लाभार्थी जनसंवाद’ कार्यक्रम में भी भाग लिया। लेकिन पीएम मोदी के साथ ही प्रदेश की सीएम वसुंधरा राजे को भी इस बात की शायद ही जानकारी हो कि कार्यक्रम में बुलाए गए लोगों के लिए नित्य कर्म से फारिग होने के लिए सरकार की ओर से शौचालय की कोई व्यवस्था नहीं की गई थी। हद तो तब हो गई जब इनके शौच के लिए कार्यक्रम के पास मैदान में पानी के टैंकर और बीयर की खाली बोतलों का ढेर लगवा दिया गया था।

इसके अलावा आज का पीएम का कार्यक्रम एक और बात को लेकर विवादों में आ गया। पीएम के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए वैसे लोगों को प्रवेश नहीं करने दिया गया, जो काले रंग का कोई कपड़ा पहने हुए थे। यहां तक कि बुर्के लगाकर गई कई महिलाओं को भी वापस लौटा दिया गया। हाल ही में राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे को एक कार्यक्रम में काले झंडे दिखाने की घटना की वजह से प्रशासन द्वारा इस तरह की कार्रवाई की बात कही जा रही है।

ऐसे में जब मोदी सरकार स्वच्छ भारत मिशन के साथ केंद्र की सरकार में चार साल से ज्यादा का वक्त गुजार चुकी है तो ऐसी तस्वीरें और घटनाएं पूरे अभियान की धज्जियां उड़ाती हैं और सरकार के दावों पर सवाल खड़े करती हैं।

लोकप्रिय