अमित शाह ने भी दोहराया पीएम मोदी का झूठ, कहा- न संसद और न कैबिनेट में हुई एनआरसी पर चर्चा

केंद्रीय कैबिनेट की मंगलवार को अहम बैठक के बाद गृहमंत्री ने एक न्यूज एजेंसी के साथ बातचीत में एनआरसी पर एक बार फिर पीएम मोदी के झूठ को दोहराया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी सही कह रहे थे कि एनआरसी पर न कैबिनेट में और न संसद में कोई चर्चा हुई है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पीएम मोदी की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में 2021 की जनगणना की प्रक्रिया शुरू करने और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) की मंजूरी दी गई। पहले से देश में नागरिकता संशोधन कानून और संभावित एनआरसी को लेकर जारी हंगामे के बीच एनपीआर लाने पर उठ रहे सवालों को लेकर शाम में गृहमंत्री अमित शाह ने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत कर भरपूर सफाई देने की कोशिश की। लेकिन इस दौरान उन्होंने भी हाल में रामलीला मैदान की रैली में पीएम मोदी द्वारा देश से बोले गए झूठ को ही जोरदार तरीके से दोहराया।

बातचीत में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि एनपीआर और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के बीच कोई संबंध नहीं है। इस दौरान उन्होंने जोर देकर कहा कि वर्तमान में सरकार में एनआरसी को लेकर कोई बात नहीं हो रही है। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सही कहा है कि एनआरसी पर न कैबिनेट में और न संसद में कोई चर्चा हुई है। शाह ने इस दौरान कहा कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर को लेकर विपक्ष राजनीति कर रहा है। विपक्ष के लोग अफवाह फैला रहे हैं।

वैसे नीचे वीडियो में आप भी देख लें कि संसद में खुद गृहमंत्री ने क्या बोला था। इतना ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी ने संसद के संबोधन में एनआरसी पर क्या कहा था, उसे आप नीचे दिए एक और वीडियो में देख सकते हैं।

इस बातचीत के दौरान सबसे खास बात ये रही कि गृहमंत्री अमित शाह ने पीएम से उलट ये स्वीकार किया कि देश में डिटेंशन सेंटर का निर्माण हो रहा है। हालांकि, शाह ने कहा कि ये डिटेंशन सेंटर मुसलमानों के लिए नहीं, बल्कि उन लोगों के लिए बनाए जा रहे हैं, जो बाहर के हैं और यहां रह रहे हैं और उनके पास कोई कागजात नहीं हों। हालांकि निर्माणाधीन डिटेंशन सेंटर की संख्या बताने से शाह ने यह कहकर इनकार कर दिया कि उन्हें फिलहाल इसकी जानकारी नहीं है। एनपीआर में आधार नंबर देने के प्रावधान पर पूछे गए एक सवाल पर उन्होंने कहा कि आधार नंबर देने में कोई हर्ज नहीं है।

यहां नीचे आप खुद देख सकते हैं कि रविवार को रामलीला मैदान की रैली में पीएम मोदी ने एनआरसी और डिटेंशन सेंटर पर क्या बोला था।

गौरतलब है कि 22 दिसंबर को राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान में बीजेपी की एक रैली में पीएम मोदी ने नागरिकता कानून आने के बाद एनआरसी और इस कानून पर मचे हंगामे के बीच कहा कि एनआरसी के बारे में संसद में कोई चर्चा नहीं हुई। इसके साथ ही पीएम मोदी ने ये भी कहा कि देश में कहीं भी किसी डिटंशन सेंटर का निर्माण नहीं हो रहा है। उस दिन भी लोग पीएम का बयान सुनकर चकरा गए थे और आज फिर गृहमंत्री के बयान लोगों को चक्कर में डालने वाले हैं। क्योंकि ऐसे तमाम वीडियो सामने हैं, जिनमें राष्ट्रपति, खुद अमित शाह, उनके राज्य मंत्री नित्यानंद राय और बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा एनआरसी की बात कर रहे हैं।

Published: 24 Dec 2019, 8:09 PM
लोकप्रिय
next