तो क्या आरएसएस 2019 में प्रणब मुखर्जी को पीएम बनाने की कर रहा है तैयारी, पढ़िए शिवसेना की भविष्यवाणी

शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि ऐसा लगता है कि आरएसएस खुद को एक ऐसी स्थिति के लिए तैयार कर रहा है, जब 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी बहुमत से चूक जाएगी, तब वह प्रणब मुखर्जी का नाम पीएम उम्मीदवार के रूप में पेश कर सकता है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जब से नागपुर में जाकर आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लिया और स्वयंसेवकों को संबोधित किया है, तबसे पूरे देश में उनके वहां जाने पर बहस छिड़ी हुई है। हर कोई अपने-अपने ढंग से उनके संबोधन और आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होने के फैसले की व्याख्या कर रहा है। लोग अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। अब शिवसेना की ओर से बड़ा बयान सामने आया है। शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि 2019 में आरएसएस प्रणब मुखर्जी को प्रधानमंत्री के उम्मीदवार के तौर पर पेश करने की तैयारी कर रहा है।

संजय राउत ने मीडिाय से बात करते हुए कहा, “हम ऐसा महसूस कर रहे हैं कि आरएसएस खुद को एक ऐसी स्थिति के लिए तैयार कर रहा है, जब 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी बहुमत के लिए जरूरी सीटें हासिल करने में नाकाम हो जाएगी, तब वह प्रणब मुखर्जी जी का नाम प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में पेश कर सकता है। हर हाल में इस बार बीजेपी 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में अपनी 110 सीटें गवां देगी।”

गौरतलब है कि कांग्रेस के विरोध के बावजूद 7 जून को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी नागपुर के आरएसएस मुख्यालय में आयोजित शिक्षा वर्ग के तृतीय वर्ष ओटीसी (ऑफिसर्स ट्रेनिंग कैंप) में स्वयंसेवकों को संबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने अपने भाषण में आरएसएस को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाया था। अपने संबोधन में उन्होंने भारत के इतिहास का जिक्र करते हुए कहा था कि मैं यहां देश और देशभक्ति समझाने आया हूं, और देश की बात करने आया हूं। उन्होंने देश के कई अहम मुद्दों पर आरएसएस की लाइन से हटकर बोलते हुए आरएसएस को आइना दिखाया था।

लोकप्रिय
next