शामली: हवन की राख विसर्जित करते हुए यमुना में डूबे एक ही परिवार के 7 लोग, 6 की मौत, 1 सुरक्षित

रविवार को हवन की राख यमुना में प्रवाहित करने के लिए सभी लोग राख विसर्जित करने के लिए नदी में उतरते हुए पानी में अंदर तक चले गए। पानी की गहराई ज्यादा होने और बहाव तेज होने की वजह से सभी लोग खादर में फंस गए और देखते ही देखते सभी उसमें डूब गए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के शामली जिले के कैराना में रविवार को एक ही परिवार के सात लोग यमुना नदी में डूब गए। पुलिस ने इस दुखद घटना की जानकारी दी। तीन शवों को बाहर निकाल लिया गया है, जबकि गोताखोर बाकी बचे शवों की तलाश में लगे हैं। 14 साल के एक युवक को स्थानीय लोगों के मदद से बचा लिया गया।

दरअसल शामली के कैराना क्षेत्र के मलकपुर गांव में शनिवार देर रात तक जागरण हुआ। अगले दिन रविवार को दोपहर के समय गांव के लोग ट्रैक्टर ट्रॉली में सवार होकर हवन की राख यमुना में प्रवाहित करने के लिए पास के ही के खादर में आए थे। सातों लोग राख विसर्जित करने के लिए नदी में उतरते हुए पानी में अंदर तक चले गए। पानी की गहराई ज्यादा होने और बहाव तेज होने की वजह से सभी लोग खादर में फंस गए और देखते ही देखते सभी उसमें डूब गए।


घटना की सूचना पाते ही जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी बचाव कार्य की निगरानी के लिए घटना स्थल पर पहुंचे। इसके बाद बचाव टीम और स्थानीय लोगों की मदद से तीन लोगों के शवों को ढूंढ कर बाहर निकाला, जबकि बाकी शव अभी भी लापता हैं।

इस घटना में स्थानीय लोगों ने अजय नाम के एक 14 वर्षीय युवक को बचा लिया। मरने वालों में अनुज, विशाल, भारत, रोबिन, शुभम व महेश शामिल हैं। शाम होने तक पुलिस ने अनुज, विशाल और भारत के शव बरामद कर लिए जबकि बाकी तीन लोगों के शवों को ढूंढने लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। बचाव कार्य के दौरान डीएम, एसपी, एसडीएम आदि कई अधिकारी मौके पर मौजूद रहे

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia