देश

शिवसेना ने अलीगढ़ की घटना को लेकर बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- खोखले हैं मोदी सरकार के ‘बेटी बचाओ’ के नारे 

‘सामना’ में छपे लेख में कहा गया है कि, ‘ढाई साल की बच्ची गायब हो गई मगर पुलिस ने केस दर्ज करने में टालमटोल की और जांच में भी देरी की। ऐसे में मोदी सरकार के ‘बेटी बचाओं’ के नारे खोखले लग रहे हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

एनडीए में दल मिले हैं, लेकिन दिल नहीं! हाल में कई ऐसे मौके आए जब सहयोगी दलों ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। बिहार में बीजेपी और जेडीयू की तकरार के बाद अब शिवसेना ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। शिवसेना ने हाल में देश में घटे घटनाओं को लेकर मोदी सरकार पर तंज कसा है।अपने मुखपत्र ‘सामना’ में छपे एक संपादकीय के जरिए शिवसेना ने तंज कसते हुए कहा कि जीत का जश्न समाप्त हो गया हो तो अलीगढ़ में हुए दर्दनाक कांड की तरफ भी देखना चाहिए।

‘सामना’ में छपे लेख में कहा गया है कि कांग्रेस से लेकर बॉलवुड और खेल जगत कई दिग्गज हस्तियों ने इस घटना के प्रति नाराजगी जाहिर की लेकिन दोबारा चुनाव जीतकर सत्ता में वापस लौटे लोग अपनी मर्यादा भूल गए। बीजेपी नेताओं द्वारा रेप पर विवादित बयान देने को लेकर भी लेख में निशाना साधा गया है। बता दें कि योगी कैबिनेट में मिनिस्टर उपेंद्र तिवारी ने कहा था कि रेप के अलग-अलग प्रकार होते हैं। उन्होंने कहा कि कई बार महिलाएं 6-7 साल रिश्ते में रहने के बाद भी बलात्कार का आरोप लगा देती हैं, ऐसा है तो सवाल तो उठेगा कि साल साल पहले क्यों नहीं कहा।

बता दें कि कुछ दिन पहले बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने जेल में जाकर बलात्कार के आरोपी बीजेपी नेता से मुलाकात की थी। संपादकीय में इस पर भी नाराजगी जताई गई है। संपादकीय में कहा गया, ‘मोदी और शाह ऐसे लोगों को बार-बार समझाते रहते हैं, फिर भी ये लोग क्यों भटक जाते हैं? साक्षी महाराज जेल में जाकर बलात्कार के एक आरोपी से मिले। उत्तर प्रदेश में हंगामा है। पुलिस महानिदेशक के घर के बाहर से अपहरण होता है।’ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की तारीफ करते हुए संपादकीय में कहा गया कि योगी सरकार ने जंगलराज के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी है, कई माफियों को भून दिया गया। मगर ढाई साल की बच्ची के साथ जो घटा यह विकृति है।’ लेख में सख्त भाषा का इस्तेमाल करते हुए कहा गया कि आतंकवादियों और अपराधियों को सीधे-सीधे गोली मारी जा सकती है।

शिवसेना के मुखपत्र में आगे कहा गया, ‘अलीगढ़ में जिस बच्ची की हत्या हुई वो देश की बेटी है। यह भावना महत्वपूर्ण है।’ अलीगढ़ प्रकरण में पुलिस केस में देरी को लेकर भी शिवसेना ने यूपी सरकार पर निशाना साधा। लेख में कहा गया है कि, ‘ढाई साल की बच्ची गायब हो गई मगर पुलिस ने केस दर्ज करने में टालमटोल की और जांच में भी देरी की। ऐसे में मोदी सरकार के ‘बेटी बचाओं’ के नारे खोखले लग रहे हैं। अलीगढ़ की घटना मानवता पर कलंक है। समाज का सिर शर्म से झुक गया है।’ बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी और शिवसेना में काफी तनातनी देखने की मिली, लेकिन अंत में दोनों ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा। अब केंद्र में सरकार बनने के बाद शिवसेना बीजेपी पर फिर से हमलावर हो रही है। इससे पहले राम मंदिर के मुद्दे पर भी शिवसेना ने मोदी सरकार पर हमला बोला था। निशाना साधा था।

लोकप्रिय