मुख्य समाचार

वसुंधरा सरकार में महिला मंत्री ने जब ‘चूहों’ से की तुलना तो करणी सेना ने कहा, नाक-कान काट देंगे

राजस्थान की शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी

मीडिया द्वार राजपूत समाज संघर्ष समिति को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने कहा था कि ऐसे भी लोग हैं जो बरसाती चूहे हैं, और चुनाव आते ही बिलों से निकल जाते हैं। किरण माहेश्वरी के इसी बयान से करणी सेना नाराज है।

राजस्थान की वसुंधरा सरकार में शिक्षा मंत्री किरण महेश्वरी का नाक और कान काटने की श्री राजपूत करणी सेना ने धमकी दी है। बताया जा रहा है कि किरण माहेश्वरी ने राजपूतों की कथित रूप से चूहों से तुलना की थी। हालांकि शिक्षा मंत्री ने आरोप से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि उनका इशारा राजपूतों के लिए नहीं था।

श्री राजपूत करणी सेना ने इस मामले में शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरे से तुरंत माफी मांगने की मांग की है। माफी नहीं मांगने पर करणी सेना ने किरण माहेश्वरी को अंजाम भुगतने की धमकी दी है। करणी सेना ने कहा कि ऐसे बयान देने से पहले शिक्षा मंत्री को पहले फिल्म ‘पद्मावत’ विवाद के समय दीपिका पादुकोण वाली घटना याद रखनी चाहिए।

करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष महिपाल मकराना ने किरण माहेश्वरी के बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। एक वीडियो जारी कर उन्होंने कहा, “राजपूत समुदाय के समर्थन की वजह से बीजेपी राजस्थान की सत्ता पर काबिज हुई थी। पिछले विधानसभा चुनाव में माहेश्वरी इन्हीं ‘चूहों’ के वोट के दम पर चुनाव जीती थीं। आने वाले विधानसभा चुनाव में हम उन्हें सबक सिखाएंगे।”

मीडिया ने सर्व राजपूत समाज संघर्ष समिति द्वारा आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ चुनाव प्रचार करने का फैसला लेने से जुड़ा सवाल शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी से पूछा था। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा था, “ऐसे भी लोग हैं जो बरसाती चूहे हैं, और चुनाव आते ही बिलों से निकल जाते हैं।” किरण माहेश्वरी के इसी बयान पर करणी सेना ने कड़ी आपत्ति जताई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें