ट्रैक्टर रैली पर नहीं हो सका कोई फैसला, किसान नेता बोले- नहीं बनी बात तो 26 जनवरी को आएगी सुनामी

किसान 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर रैली करने वाले हैं। इस मामले में आज फिर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सर्वोच्च अदालत ने इस विवाद में दखल देने से इनकार किया है और कहा है कि दिल्ली पुलिस ही इस पर इजाजत दे सकती है।

फोटो : IANS
फोटो : IANS
user

रवि प्रकाश

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले 56 दिनों से दिल्ली के बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान और सरकार के बीच अभी तक 9 दौर की बातचीत भी हो चुकी है लेकिन कोई हल नहीं निकल सका है। आज 10वें दौर की बातचीत हो रहे है। इन्हीं सब बातों के बीच प्रदर्शन कर रहे किसान 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर रैली करने वाले हैं। इस मामले में आज फिर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सर्वोच्च अदालत ने इस विवाद में दखल देने से इनकार किया है और कहा है कि दिल्ली पुलिस ही इस पर इजाजत दे सकती है। इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट के द्वारा लगातार कमेटी पर उठ रहे सवालों पर नाराजगी व्यक्त की गई।

कोर्ट ने इस मामले में कोई भी फैसला सुनाने से इनकार कर दिया है। चीफ जस्टिस ने सुनवाई के दौरान कहा कि हम ट्रैक्टर रैली को लेकर कोई फैसला नहीं सुनाएंगे, कोर्ट किसी रैली को रोके ये बिल्कुल ठीक नहीं है। ऐसे में दिल्ली पुलिस को ही इसपर फैसला लेना चाहिए। चीफ जस्टिस एस.ए. बोबडे ने अदालत में वकीलों को सलाह दी कि वो किसानों से अपील करें कि ट्रैक्टर रैली को शांति के साथ निकालें।

वहीं किसान ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हुए हैं। किसान नेता राकेश टिकैत ने साफ शब्दों में कहा है कि हमे दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने से कोई नहीं रोक सकता। राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली भी किसानों की है और गणतंत्र दिवस भी किसानों का है।

वहीं इसी मुद्दे पर किसान नेता और दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के बीच भी बैठक हुई। बैठक से पहले किसान नेता प्रेम सिंह पंगू ने एनडीटीवी से कहा, "आज की मीटिंग को लेकर बहुत उम्मीदें हैं। पिछली मीटिंग में सरकार ने कहा था कि वो कृषि कानून रद्द करने को लेकर मन बना कर आएगी। अगर आज की मीटिंग सफल नहीं हो पाती है तो 26 तारीख को दुनिया देखेगी। किसानों में बहुत रोष और गुस्सा है। 26 जनवरी को सुनामी आएगी।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next