सुशांत सिंह ने आत्महत्या करने से पहले गूगल पर सर्च की थीं ये तीन चीजें, इस वजह से थे काफी डिस्टर्ब

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस के तनातनी के खबरों के बीच आज (सोमवार) मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई बड़े खुलासे किए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस के तनातनी के खबरों के बीच आज (सोमवार) मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई बड़े खुलासे किए। आज तक मुताबिक मुंबई पुलिस के कमिश्नर परमबीर सिंह ने बताया है कि सुशांत ने सुसाइड से पहले गूगल पर कई चीजें सर्च की थी। इनमें बाइपोलर डिसॉर्डर, स्तिजोफ्रेनिया, पेनलेस डेथ (दर्दरहित मौत) और अपना नाम शामिल है। गौरतलब है कि बाइपोलर डिसॉर्डर और स्तिजोफ्रेनिया गंभीर मानसिक बीमारियां हैं और इन बीमारियों के अक्सर बेहद खतरनाक परिणाम सामने आते हैं।

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने बताया कि जब से सुशांत सिंह का नाम दिशा सालियान केस में सामने आया था वो काफी परेशान रहने लगे थे। उन्होंने आगे कहा कि सुशांत दिशा से केवल एक बार मिले थे। उन्होंने दिशा के वकील को मैसेज भी किया था कि आखिर इस मामले में उनका नाम क्यों घसीटा जा रहा है। इसी दौरान पुलिस कमिश्नर ने ये खुलासा किया कि सुशांत सिंह ने गूगल पर दर्दरहित मौत, बाइपोलर डिसॉर्डर, स्तिजोफ्रेनिया और अपना नाम सर्च किया था। मुंबई पुलिस के मुताबिक ये जानकारी उनके गूगल सर्च हिस्ट्री के सामने आने के बाद आई है।

बता दें कि मुंबई पुलिस ने मामले में अब तक 56 लोगों के बयान दर्ज किए हैं, जिनमें अभिनेता के परिजन, रसोइया और फिल्म जगत के लोग भी शामिल हैं। बिहार पुलिस पटना में पिछले सप्ताह सुशांत के पिता की ओर से दर्ज एक शिकायत के आधार पर ‘आत्महत्या के लिए उकसाने' के मामले में अलग से जांच कर रही है। बिहार पुलिस ने अब तक राजपूत की मौत के मामले में 10 लोगों के बयान दर्ज किए हैं।

Published: 3 Aug 2020, 3:30 PM
लोकप्रिय
next