पीओके में आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई पर चीन में बोलीं सुषमा, पाक ने नहीं लिया एक्शन, करनी पड़ी ‘असैन्य कार्रवाई’

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने चीन में हो रही इस बाइलेटरल मीटिंग में पुलवामा हमले का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पुलवामा में हमारे जवानों पर भीषण हमला हुआ। यह हमला पाकिस्तान में पल रहे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने किया।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज चीन यात्रा पर हैं। वे रूस-इंडिया-चीन की साझा बैठक में हिस्सा ले रही हैं। पुलवामा हमले के बाद आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने की कोशिश में सुषमा की इस यात्रा को काफी अहम माना जा रहा है। उन्होंने चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ द्विपक्षीय बैठक में पुलवामा हमले का जिक्र किया। उन्होंने कहा, “ जम्मू कश्मीर में हमारे सुरक्षा बलों पर हुआ यह सबसे बड़ा हमला था। पाकिस्तान से चलने वाले जैश ए मोहम्मद और उसके समर्थित आतंकी संगठनों ने यह हमला किया था।”

उन्होंने कहा, “पाकिस्तान लगातार आतंकी संगठनों को पनाह देने की बात नकारता रहता है। खबर यह भी थी कि जैश ए मोहम्मद भारत में और आतंकी हमले करने की फिराक में है, जिसके बाद भारत सरकार ने उसके खिलाफ कार्रवाई का फैसला किया। हमने इस तरह से लक्ष्य निर्धारित किया कि आम लोगों को कोई नुकसान ना पहुंचे।”

उन्होंने आगे कहा, “मैं ऐसे वक्त में चीन आयी हूं जब भारत में शोक और गुस्से का माहौल है। यह जम्मू-कश्मीर में हमारे सुरक्षा बलों के खिलाफ सबसे भीषण हमला है।”

गौरतलब है कि 14 फरवरी को आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला किया था जिसमें 49 जवान शहीद हुए थे। वहीं मंगलवार, 26 फरवरी को सुबह करीब 3.30 बजे भारत ने पाकिस्तान के भीतर हवाई हमला कर कई बड़े आतंकवादी कैंपों को तबाह कर दिया। इस एयर स्ट्राइक में करीब 300 आंतकियों के मारे जाने की खबर है।

मंगलवार सुबह चीन पहुंची सुषमा स्वराज ने वांग से कहा कि 2019 में यह उनकी पहली बैठक है और ऐसे में यह द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा करने और सहयोग को आगे बढ़ाने के लिहाज से दोनों पक्षों के लिए सही समय है।

Published: 27 Feb 2019, 10:38 AM
लोकप्रिय