अमरनाथ तीर्थ यात्रा में श्रद्धालुओं के सेहत का इस तरह ख्याल रख रहे ITBP के जवान

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) अमरनाथ यात्रा 2022 की सुरक्षा ड्यूटी करने के साथ ही यात्रा के दौरान ऊंची पहाड़ी वाले स्थानों पर जरूरतमंद यात्रियों को ऑक्सीजन सहायता भी प्रदान कर रही है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) अमरनाथ यात्रा 2022 की सुरक्षा ड्यूटी करने के साथ ही यात्रा के दौरान ऊंची पहाड़ी वाले स्थानों पर जरूरतमंद यात्रियों को ऑक्सीजन सहायता भी प्रदान कर रही है। आईटीबीपी ने कहा है कि 22 जुलाई तक 2000 से ज्यादा यात्रियों को ऑक्सीजन सहायता प्रदान की गई है ये तीर्थयात्री ऑक्सीजन की कमी महसूस कर रहे थे जिस कारण से बीमार महसूस कर रहे थे।


यात्रा मार्ग में शेषनाग (12324 फीट) से महागुन टॉप (14000 फीट) तक जाने वाले रास्ते पर आईटीबीपी के जवानों का आना-जाना लगा रहता है, जहां सांस फूलने और ऊंचाई पर प्रभाव के ऐसे मामले देखे जा रहे हैं। इसके लिए आईटीबीपी के जवानों को मुस्तैद रहने के आदेश दिए गए हैं। ये जवान यात्रियों की सेहत का इलाज भी कर रहे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

आईटीबीपी स्वास्थ्य विंग हाई अलर्ट पर

आईटीबीपी के जवानों को ऐसे यात्रियों को देखते रहने के लिए कहा गया है जिनमें सांस फूलने और ऊंचाई में बीमारी के लक्षण दिखें, आईटीबीपी ने अपनी स्वास्थ्य विंग को हाई अलर्ट पर रखा है, क्योंकि कुछ यात्रियों में अचानक ऐसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं।

आईटीबीपी यात्रियों को आवश्यकता पड़ने पर प्राथमिक उपचार भी प्रदान कर रही है और उन यात्रियों को देखने के लिए विशेषतौर पर पहाड़ी क्षेत्रों में गश्त भी कर रही है जिन्हें किसी भी प्रकार की चिकित्सा सहायता की आवश्यकता है।

साल 2019 में भी आईटीबीपी ने जीता था श्रद्धालुओं का दिल:

आईटीबीपी के जवान बीमारों को अस्पताल भी ले जा रहे हैं और स्ट्रेचर पर ले जाकर शेषनाग कैंप भी ले जा रहे हैं। आईटीबीपी कई सालों से यात्रा के दौरान इस तरह की सहायता प्रदान करती रही, 2019 में भी यात्रियों को उफनते नालों पर पुलों को सुरक्षित पार कराते हुए देखा गया था। आईटीबीपी ने उस साल भी सैकड़ों जरूरतमंद यात्रियों को ऑक्सीजन मुहैया कराई थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 22 Jul 2022, 5:06 PM
;