अग्निपथ योजना का विरोध, दिल्ली में रोकी गई ट्रेनें, राहुल बोले- बेरोज़गार युवाओं के संयम की 'अग्निपरीक्षा' मत लीजिए

दिल्ली में गुरुवार को युवाओं ने रेलवे भर्ती परीक्षा में देरी और नई शुरू की गई अग्निपथ योजना का विरोध किया। इन लोगों ने बाद में ट्रेनों को भी रोक दिया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

अग्निपथ योजना का देश भर के युवा विरोध कर रहे हैं। बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड से लेकर राजधानी दिल्ली तक के युवा सड़क पर निकल कर इस योजना का विरोध कर रहे हैं। दिल्ली में गुरुवार को युवाओं ने रेलवे भर्ती परीक्षा में देरी और नई शुरू की गई अग्निपथ योजना का विरोध किया। इन लोगों ने बाद में एक ट्रेनों को भी रोक दिया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

पुलिस उपायुक्त (बाहरी जिला) समीर शर्मा ने कहा, "लगभग 15-20 लोग रेलवे स्टेशन नांगलोई पर एकत्र हुए और रेलवे भर्ती परीक्षाओं में देरी और हाल ही में शुरू की गई अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।"

इसके बाद नांगलोई थाना के थाना प्रभारी तुरंत मौके पर पहुंचे और प्रदर्शनकारी से शांतिपूर्वक रेलवे ट्रैक खाली करने का अनुरोध किया।


डीसीपी शर्मा ने कहा, "उनकी बात को शांति से सुना गया, जिसमें उन्होंने कहा कि उन्होंने 2-3 साल पहले कुछ सरकारी परीक्षा के लिए फॉर्म भरा था, लेकिन भर्ती के लिए परीक्षाएं अभी तक आयोजित नहीं की गई हैं, और वे अब अधिक उम्र के हो गए हैं।"

हालांकि, पुलिस प्रदर्शनकारियों को शांत करने में सफल रही और भीड़ को तितर-बितर कर दिया गया। शर्मा ने कहा, "स्थिति अब नियंत्रण में है और सभी छात्र रेलवे ट्रैक से हट गए हैं।"

युवाओं के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी और अन्य दूसरे विपक्षी दल भी इस योजना का विरोध कर रहे हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस योजना को लेकर गंभीर सवाल उठाए हैं। राहुल गांधी ने कहा कि देश के बेरोज़गार युवाओं की आवाज़ सुनिए, इन्हे 'अग्निपथ' पर चला कर इनके संयम की 'अग्निपरीक्षा' मत लीजिए, प्रधानमंत्री जी।

राहुल ने ट्वीट कर लिखा, "न कोई रैंक, न कोई पेंशन न 2 साल से कोई direct भर्ती न 4 साल के बाद स्थिर भविष्य न सरकार का सेना के प्रति सम्मान देश के बेरोज़गार युवाओं की आवाज़ सुनिए, इन्हें 'अग्निपथ' पर चला कर इनके संयम की 'अग्निपरीक्षा' मत लीजिए, प्रधानमंत्री जी।"


गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंगलवार को भारतीय युवाओं के लिए सशस्त्र बलों में सेवा देने के लिए 'अग्निपथ' भर्ती योजना को मंजूरी दी। इस योजना के तहत चयनित युवाओं को 'अग्निवीर' के रूप में जाना जाएगा। इनमें से करीब 46,000 की भर्ती इस साल की जाएगी। इनका कार्य काल सिर्फ 4 साल का होगा।


आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia