उन्नाव रेप केस: सड़क हादसे की जगह पहुंची सीबीआई, योगी के इस मंत्री का दामाद भी आरोपी, सेंगर का है करीबी

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए एक्सीडेंट मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मामला दर्ज कर लिया है। इसके साथ ही सीबीआई ने बुधवार से ही अपनी जांच शुरू कर दी है। जांच के लिए बुधवार को सीबीआई की 12 सदस्यीय टीम रायबरेली पहुंची।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए एक्सीडेंट मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मामला दर्ज कर लिया है। इसके साथ ही सीबीआई ने बुधवार से ही अपनी जांच शुरू कर दी है। जांच के लिए बुधवार को सीबीआई की 12 सदस्यीय टीम रायबरेली पहुंची। सीबीआई की टीम ने घटनास्थल की जांच की है। सीबीआई की इस टीम में तीन सदस्य शामिल हैं। सीबीआई की टीम जेल में बंद ट्रक के ड्राइवर और क्लीनर से भी पूछताछ करेगी। बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता रविवार को सड़क हादसे का शिकार हो गई थी। इस हादसे में उसकी मौसी और चाची की मौत हो चुकी है, जबकि पीड़िता और वकील गंभीर रूप से घायल हैं। इनका इलाज लखनऊ के एक अस्पताल में चल रहा है।

बता दें कि इस मामले में सीबीआई ने मंगलवार को पीड़िता के चाचा की तहरीर पर 9 नामजद और 15-20 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। सीबीआई द्वारा दर्ज एफआईआर में बांगरमऊ सीट से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके भाई मनोज समेत 25 लोगों पर हत्या, हत्या का प्रयास, आपराधिक साजिश की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। सीबीआई लखनऊ के एंटी करप्शन ब्रांच (एसीबी) ने यह एफआईआर दर्ज की है।

सीबीआई ने कुलदीप सिंह सेंगर, मनोज सिंह सेंगर, विनोद मिश्रा, हरिपाल सिंह, नवीन सिंह, कोमल सिंह, अरुण सिंह, ज्ञानेंद्र सिंह, रिंकू सिंह, वकील अवधेश सिंह को नामजद आरोपी बनाया है। कोमल सिंह विधायक के भाई मनोज सिंह के दोस्त हैं। नवीन सिंह विधायक के राइट हैंड कहा जाता है। ज्ञानेंद्र सिंह पत्रकार है और कुलदीप के खास दोस्तों में से है। वकील अवधेश सिंह कुलदीप के मामलों की पैरवी करता है। इसके अलावा 15-20 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

आरोपियों में योगी सरकार के एक मंत्री के दामाद का भी नाम है। आरोपी अरुण सिंह उत्तर प्रदेश सरकार में कृषि राज्य मंत्री रणवेंद्र सिंह उर्फ धुन्नी सिंह का दामाद बताया जा रहा है।

लोकप्रिय