उन्नाव रेप कांड: रायबरेली में ट्रक और कार की टक्कर में घायल हुई पीड़िता, हादसे में लड़की की चाची और मां की मौत

रायबरेली में एक ट्रक ने उनकी गाड़ी को जोरदार टक्कर मार दी। जिसके बाद पीड़िता की चाची और मां की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जख्मी पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया जहां से उसे लखनऊ ट्रामा सेंटर के लिए रेफेर किया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

रायबरेली में ट्रक और कार की भीषण टक्कर में उन्नाव रेप कांड की पीड़िता गंभीर रूप से घायल हो गई है। इस हादसे में पीड़िता की चाची और मां की मौत हो गई है। पीड़िता को गंभीर रूप से जख्मी हालत में लखनऊ ट्रामा सेंटर के लिए रेफर किया गया है। इस हादसे में उन्नाव रेप कांड का वकील भी बुरी तरह से जख्मी है।

जानकारी के मुताबिक पीड़िता अपनी चाची और वकील के साथ रायबरेली की जेल में बंद अपने चाचा से मिलने के लिए जा रही थी। रायबरेली के अतरुआ गांव में एक ट्रक ने उनकी गाड़ी को जोरदार टक्कर मार दी। जिसके बाद उसकी चाची और वकील की मौके पर ही मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना पुलिस के दी जिसके बाद मौके पर पहुंच कर पुलिस ने गंभीर रूप से जख्मी पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया जहां से उसे लखनऊ ट्रामा सेंटर के लिए रेफेर किया गया।

मिटी हुई थी ट्रक की नंबर प्लेट

जिस ट्रक ने कार को टक्कर मारी उसकी नंबर प्लेट के आधे हिस्से पर कला रंग लगा हुआ था। नंबर प्लेट में सिर्फ यूपी 71 लिखा दिखाई दे रहा था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

गौरतलब है कि उन्नाव रेप मामले में बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर मुख्य आरोपी है। दो साल पहले 4 जून 2017 में पीड़िता विधायक के घर नौकरी मांगने गई थी, जहां सेंगर ने उसके साथ दुष्कर्म किया था। इस मामले में बीजेपी विधायक पर भारतीय दंड संहिता की धारा 363, 366, 376, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। अपनी बेटी के साथ हुए दुष्कर्म की रिपोर्ट लिखवाने गए पीड़िता के प‍िता की 9 अप्रैल को माखी पुल‍िस स्‍टेशन में प‍िटाई की गई थी, जिसके बाद उसकी मौत हो गयी।

इस मामले में पीड़िता ने मीडिया से बात करते हुए बीजेपी विधायक को मौत की सजा दिए जाने की मांग की थी। उसने कहा था, “मेरे साथ बलात्कार और मेरे पिता की हत्या के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के लिए मैं मौत की सजा की मांग करती हूं।”

अहम गवाह की हुई थी संदिग्ध हालातों में मौत

यूनुस नाम का एक शख्स थाने में पुलिस द्वारा लड़की के पिता की पिटाई का चश्‍मदीद गवाह था। 18 अगस्त को इस केस में नया मोड़ आया जब यूनुस की अचानक मौत हो गई। यूनुस के परिवारवालों ने उसके शव को बिना पोस्‍टमॉर्टम कराए जल्‍दबाजी में दफ्ना द‍िया था। इस मामले में सबसे चौंकाने वाली बात यह थी कि इतने महत्वपूर्ण गवाह की मौत की भनक तक इस मामले की जांच कर रही सीबीआई को नहीं लगी।

इस नए घटनाक्रम पर पीड़िता के चाचा ने कहा था क‍ि रेप मामले में आरोपी बीजेपी व‍िधायक कुलदीप स‍िंह सेंगर के इशारों पर ही सबकुछ हो रहा है और यूनुस को जहर देकर मारा गया।

उन्‍होंने बताया था, 'यूनुस की मौत को लेकर मैंने एसपी से मिलकर एक पत्र सौंपा है। इस खत में उन्‍नाव एसपी हरीश कुमार से मांग की गई है कि यूनुस का पोस्‍टमॉर्टम कराया जाए, ज‍िससे पता चल सके क‍ि उसकी मौत अचानक कैसे हो गई?'

लोकप्रिय