यूपी इन्वेस्टर्स समिट: पोटेंशियल, पॉलिसी, प्लानिंग, परफॉर्मेंस पर बोले मोदी, लेकिन पीएनबी घोटाले पर चुप्पी 

लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में दो दिवसीय इन्वेसटर्स समिट की शुरुआत हो गई है। इस कार्यक्रम में कई उद्योगपतियों ने हिस्सा लिया और उन्होंने यूपी में बड़े पैमाने पर निवेश करने की बात कही।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में दो दिवसीय इन्वेसटर्स समिट का शुभारंभ करने के बाद पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश को डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का तोहफा भी दिया। समिट को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट में 20 हजार करोड़ रुपए की निवेश की संभावना है। इतना ही नहीं, करीब 2.5 लाख लोगों को रोजगार भी मिलेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ऐसा इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करेगी, जो उत्तर प्रदेश को 21वीं सदी में नई बुलंदियों पर ले जाएगा।

उन्होंने आगे कहा, “मैंने पहले भी कहा है, पोटेंशियल, पॉलिसी, प्लानिंग , परफॉर्मेंस से ही प्रोग्रेस आती है। अब यूपी भी बड़े परफॉरमेंस देने के लिए तैयार है। अनाज, गेहूं, गन्ना, दूध उत्पादन में अग्रणी, आलू उत्पादन में भी यूपी अग्रणी है। यूपी में अब बदले समय में वैल्यू एडीशन की जरूरत, योगी सरकार यूपी में औद्योगिक नीति निवेश की बेहतरी के लिए बनाई जा रही हैं। यूपी में उद्यमियों के लिए रेड टैप नहीं रेड कारपेट होगा।” उद्योग को लेकर पीएम मोदी ने बहुत बातें की, लेकिन अभी तक उन्होंने पीएनबी घोटाले पर चुप्पी नहीं तोड़ी हैं।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि निवेशकों की चिंताओं को दूर करने के लिए प्रदेश सरकार ने पिछले 11 महीनों में काफी काम किया है। उन्होंने कहा कि उप्र सरकार ने पिछले 11 महीने में कई नीतियां बनाई हैं जिससे उद्योगपतियों को निवेश लायक माहौल मिल सके। उन्होंने आगे कहा, "हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हमने जितने का बजट पेश किया था ठीक उतने ही यानी चार लाख 28 हजार करोड़ रुपये के एमओयू पर हस्ताक्षर हुए हैं।”

उन्होंने कहा कि सरकार बनने के बाद पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे और बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर काफी तेजी से काम हो रहा है।

इन्वेस्टर्स समिट में कई नामी उद्योगपति में शामिल हुए हैं। रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन मुकेश अंबानी, अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी, एस्सेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा, बिडला ग्रुप से कुमार मंगलम बिडला और महिंद्रा ग्रुप से आनंद महिंद्रा सहित कई नामी हस्तियां यहां मौजूद हैं।

इन्वेस्टर्स समिट मुकेश अंबानी ने कहा रिलायंस ग्रुप जियो के जरिए अगले 3 साल में प्रदेश में 10 हजार करोड़ निवेश करेगा। इसके अलावा 2 महीने में 2 करोड़ जियो फोन देग। यही नहीं अगले 3 साल में 1 लाख लोगों को रोजगार मुहैया कराया जाएगा। नमामि गंगे प्रोजेक्ट में रिलायंस फाउंडेशन के लिए जो भी सहयोग की मांग होगी उसे पूरा किया जाएगा।

अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने यूपी इन्वेस्टर्स समिट को संबोधित करते हुए कहा कि यूपी में अलग-अलग परियोजनाओं में 35 हजार करोड़ रुपये का निवेश करेंगे।

उन्होंने आगे कहा, “यूपी असीमित संभावनाए हैं जिसका लाभ सभी निवेशकों को मिलेगा। यहां निवेश करने लायक माहौल भी है और यहां पर्याप्त मात्रा में संसाधन भी हैं।”

उन्होंने आगे कहा क प्रधानमंत्री ने न्यू इंडिया का जो विजन रखा है, उसे पूरा करने में अडानी ग्रुप पूरी मदद करेगा। प्रधानमंत्री जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने गुजरात में वाइब्रेंट गुजरात का आगाज किया था। उसमें भी अडानी ग्रुप ने अपनी तरफ से काफी सहयोग किया था। एक बार फिर उप्र को नया उप्र बनाने के उनके सपने को साकार करने में हमारा ग्रुप पूरा सहयोग करेगा।

उन्होंने कहा, “योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में यूपी को आगे ले जाने में हमारा पूरा सहयोग रहेगा। हम यूपी के अलग-अलग क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। हमारा समूह अगले 5 सालों में अलग-अलग क्षेत्रों में 35 हजार करोड़ रुपये का निवेश करेगा।”

बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा, “अब तक हमने यूपी में 25 हजार करोड़ का निवेश किया है। हम यूपी में सबसे बड़े प्राइवेट निवेशक हैं। हम यूपी में अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए निवेश कर रहे हैं और हम आगे भी यहां सबसे बड़े निवेशक रहेंगे।”

उद्योगपति आनंद महिंद्रा ने 25 हजार करोड़ के निवेश का वादा किया है। आनंद महिंद्रा ने कहा, “यूपी से पुराना नाता है। मां इलाहाबाद से थी, मेरी पढ़ाई हर जगह घूम-घूमकर हुई अब फिर वापस घर आ गया। वाराणसी में भी कई तरह के निवेश करेंगे।”

टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखर ने कहा, “टीसीएस लखनऊ में अपना काम जारी रखेगी और लखनऊ में अपनी उपस्थिति को ज्यादा मजबूत करेगी। यूपी के सभी क्षेत्रों में चौतरफा विकास के लिए हम सरकार के साथ मिलकर काम करेंगे।”

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 10 बजे वह अमौसी एयरपोर्ट पर पहुंचे। यहां राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा सहित कई मंत्रियों ने उनका स्वागत किया।

इस बीच यूपी इंवेस्टर्स समिट-2018 को लेकर लखनऊ के सड़कों पर जगह-जगह पोस्टर लगाए गए हैं। युवा कांग्रेस ने समिट के विरोध में पोस्टर लगाकर पीएम मोदी से सवाल पूछे हैं। पोस्टरों में लिखा है, “दर्जनों देश घूम लिए, कितना आया व्यापार। कुछ तो जवाब दो, हिसाब दो चौकीदार।” इसके साथ ही लिखा है, “पहले ललित फिर माल्या अब नीरव भी हुआ फरार। स्वागत है लखनऊ में आपका देश बेचने वाले चौकीदार।”

यूपी इन्वेस्टर्स समिट: पोटेंशियल, पॉलिसी, प्लानिंग, परफॉर्मेंस  पर बोले मोदी, लेकिन पीएनबी घोटाले पर चुप्पी 

कांग्रेस ने भी यूपी समिट 2018 को लेकर पीएम मोदी और योगी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि समिट के बहाने करोड़ों का घोटाला किया जा रहा है।

यूपी इन्वेस्टर्स समिट: पोटेंशियल, पॉलिसी, प्लानिंग, परफॉर्मेंस  पर बोले मोदी, लेकिन पीएनबी घोटाले पर चुप्पी 

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;