यूपी में अपराधी बेलगाम, अफसर के घर जाकर खुलेआम धमकी दे रहे गुंडे, अधिकारियों तक को लगानी पड़ रही सुरक्षा की गुहार!

अब तो गुंडे सरकारी लोगों को भी घर में घुस कर धमकी देने लगे हैं। अपराधियों के हौसले किस कदर बुलंद हैं, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अपराधियों ने मथुरा के एसडीएम के घर जाकर उन्हें देख लेने की धमकी दी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

लगता है उत्तर प्रदेश में अपराधियों को पुलिस का डर बिल्कुल भी नहीं रह गया है। हर दिन ऐसी घटनाएं हो रही हैं जिसे देख के लोग अब यह कहने लगे हैं कि योगी राज में यूपी में कानून का बदमाशों में कोई खौफ नहीं रह गया है। अपराधियों ने हाल में कई ऐसी वारदात को अंजाम दिया है जिससे उनके बुलंद हौसलां का प्रमाण मिलता है। पहले कानपूर में 8 पुलिसवालों को मार दिया गया। फिर कानपुर में ही बदमाश एक लैब टेक्नीशियन को अपहरण करते हैं और पुलिस के सामने से 30 लाख रुपए लेकर फरार हो जाते हैं। बाद में लैब टेक्नीशियन की मौत की खबर आती है। उसके बाद गाजियबाद में एक पत्रकार को गुंडे सरेआम मार देते हैं। उस पत्रकार का दोष बस इतना था कि उन्होंने गुंडों को अपनी भांजी से छेड़छाड़ करने से रोका था और उसकी शिकायत पुलिस में कर दी थी।

अब तो गुंडे सरकारी लोगों को भी घर में घुस कर धमकी देने लगे हैं। अपराधियों के हौसले किस कदर बुलंद हैं, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अपराधियों ने मथुरा के एसडीएम के घर जाकर उन्हें देख लेने की धमकी दी है। जनसत्ता की खबर के मुताबिक एसडीएम राजीव उपाध्याय ने डीएम और एसपी को पत्र लिखकर घटना की जानकारी दी है और सुरक्षा की गुहार लगाई है। उपाध्याय के मुताबिक रात्रि 9.20 के करीब उनके सरकारी आवास बी-13 ऑफिसर्स कॉलोनी के बाहर एक एसयूवी में चार रायफलधारी और एक पिस्टलधारी आए और उनके घर पर तैनात गार्ड को धमकाया।


उन्होंने बताया कि बदमाशों ने कहा कि उनको (राजीव उपाध्याय) को खबर कर देना कि उसका समय पूरा हो गया है। जल्दी ही उसे निपटा देंगे। उस समझा दो कि जिलाधिकारी के कहने पर दुकानें गिराने, ग्राम सभा और सरकारी संपत्तियों से कब्जा हटाने का काम तुरंत छोड़ दे नहीं तो खैर नहीं है। ये बातें बदमाशों ने उपाध्याय के घर तैनात गार्ड विपिन और भूरी सिंह से कही। धमकी देने के बाद बदमाश अपनी कार से फरार हो गए।

इतना ही नहीं राज्य के गोंडा जिले से भी एक बड़ी घटना सामने आई है। यहां शुक्रवार को मास्क और सैनिटाइजर बांटने के बहाने कुछ बदमशों ने एक बड़े कारोबारी के 8 साल के पोते को अगवा कर लिया। जिसके बाद अपहरणकर्ताओं ने फोन कर कारोबारी से 4 करोड़ रुपय की मांग की थी। इस फोन कॉल का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। अच्छी बात यह है कि व्यवसायी के पोते को पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया है। इस घटना में 4 करोड़ रुपये की फिरौती मांगने वाली एक लड़की को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही इस पूरे घटनाक्रम में 4 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। अपहरण की वारदात सामने आने के कुछ ही घंटों बाद यूपी पुलिस ने इस मामले की गुत्थी को सुलझा लिया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 25 Jul 2020, 5:00 PM