पश्चिम बंगाल: विश्वभारती यूनिवर्सिटी में छात्रों पर हमला, JNU की तरह नकाब पहनकर आये थे हमलावर

SFI नेता स्वपनिल मुखर्जी औऱ फाल्गुनी खान को कुछ लोग हॉस्टल से पकड़ कर चांसलर के बंगले की तरफ ले गए, जहां पहले से ही कुछ नकाबपोश लाठी और डंडों के साथ मौजूद थे। उन लोगों ने स्वप्निल और फाल्गुनी को बेरहमी से पीटा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय में छात्रों पर हुए अटैक का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि पश्चिम बंगाल में भी इसी तरह की घटना देखने को मिली है। पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में स्थित विश्वभारती यूनिवर्सिटी कैंपस के हॉस्टल में बुधवार देर रात को कथित तौर पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के लोगों ने घुसकर वामपंथ समर्थक छात्रों के साथ मारपीट की। इस दौरान कई छात्र बुरी तरह से जख्मी हो गए। JNU की तरह यहां भी हमलावरों ने अपने चेहरे पर नकाब डाला हुआ था।

दरअसल विश्वभारती में बीते सप्ताह भारतीय जनता पार्टी के विधायक स्वपन दास गुप्ता के कार्यक्रम के बहिष्कार और उन्हें कई घंटों तक कमरे में बंद करके रखे जाने को लेकर ABVP और वामपंथ समर्थक छात्रों के बीच तनाव चल रहा है। बताया जा रहा है कि इसी का बदला लेने के लिए कथित तौर से ABVP कार्यकर्ताओं ने परिसर में घुसकर छात्रों के साथ मारपीट की। हालांकि ABVP की ओर से आए एक बयान में उन्होंने इस हमले में उनके किसी भी कार्यकर्ता के शामिल होने की बात को नकारा है।


फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

इस हमले में विश्वभारती के दो छात्र बुरी तरह से जख्मी हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बुधवार को इस हमले की शिकायत शांति निकेतन थाने में कराई गई थी, लेकिन अभी तक इस मामले में किसी की न तो गिरफ्तारी हुई है और ना किसी को पहचाना गया है। वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस हमले के लिए BJP और ABVP को ज़िम्मेदार ठहराया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

पुलिस से मिली जनकारी के मुताबिक बुधवार रात को विश्वभारती परिसर के विद्या भवन हॉस्टल में बाहर के कुछ लोग घुसे और उन्होंने JNU की तर्ज पर छात्रों पर हमला किया। इस हमले में स्वप्निल मुखर्जी और फाल्गुनी ख़ान नाम के दो छात्र बुरी तरह से जख्मी हो गए, जिन्हें एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया।

घायल छात्र स्वप्निल ने बताया कि होस्टल में हमले के बाद हमलावर अस्पताल के बाहर भी पहुंच गए। उन्होंने बताया, "पहले तो हम पर हॉस्टल में हमला किया गया। उसके बाद अस्पताल पहुंचने पर वही हमलावर अस्पताल के पास भी मौजूद थे। वहां भी हमको धमकियां दी गईं।"


विश्वभारती के एक छात्र ने बताया, "छात्रों से पहले पूछा गया कि क्या वह लोग आठ जनवरी को BJP सांसद स्वपन दासगुप्ता के घेराव में शामिल थे? हां कहने वाले छात्रों को धमकियां देते हुए धक्कामुक्की की गई।"

इसके बाद SFI नेता स्वपनिल मुखर्जी औऱ फाल्गुनी खान को कुछ लोग हॉस्टल से पकड़ कर चांसलर के बंगले की तरफ ले गए, जहां पहले से ही कुछ नकाबपोश लाठी और डंडों के साथ मौजूद थे। उन लोगों ने स्वप्निल और फाल्गुनी को बेरहमी से पीटा।

घायल छात्रों के मुताबिक हॉस्टल के सुरक्षा अधिकारी ने उन्हें इस मामले की शिकायत दर्ज न कराने की धमकी दी थी। जबकि सुरक्षा अधिकारी का कहना है कि उन्हें इस घटना की कोई जानकारी नहीं थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia