चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति में क्यों हो रही देरी? कांग्रेस नेता मनीष तिवारी का सरकार से सवाल

मनीष तिवारी ने ट्वीट किया कि चार माह हो गये, जब जनरल विपिन रावत की मौत एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में हो गई थी। पता नहीं सरकार कब नये सीडीएस की घोषणा करेगी। देर क्यों हो रही है। क्या इस नियुक्ति के लिये कोई संस्थागत प्रक्रिया नहीं है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

कांग्रेस के सांसद मनीष तिवारी ने गुरुवार को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) की नियुक्ति में हो रही देर पर सवाल उठाये। गौरतलब है कि गत साल आठ दिसंबर को हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से तत्कालीन सीडीएस जनरल विपिन रावत, उनकी पत्नी मधूलिका और 12 अन्य सशस्त्र जवानों की मौत हो गयी थीं। सीडीएस का पद तब से ही खाली है।

मनीष तिवारी ने ट्वीट किया कि चार माह हो गये, जब जनरल विपिन रावत की मौत एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में हो गई थी। पता नहीं सरकार कब नये सीडीएस की घोषणा करेगी। देर क्यों हो रही है। क्या इस नियुक्ति के लिये कोई संस्थागत प्रक्रिया नहीं है।

सीडीएस की नियुक्ति में हो रही देरी के पीछे के कारण नहीं बताये गये हैं और सरकार ने इसी सप्ताह नये सैन्य प्रमुख के रूप में सेना के उप लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे के नाम की घोषणा की है। वह वर्तमान सैन्य प्रमुख जनरल एम एम नरवणे का स्थान लेंगे, जो इस माह के अंत में रिटायर कर रहे हैं।

गत तीन माह के दौरान सेना के कई शीर्ष अधिकारियों के रिटायर होने के कारण वाइस लेफ्टिनेंट पांडे ही सर्वाधिक वरिष्ठ रह गये थे।

गत 31 जनवरी को लेफ्टिनेंट जनरल सी.पी. मोहंती और लेफ्टिनेंट जनरल वाई.के. जोशी तथा 31 मार्च को लेफ्टिनेंट जनरल राज शुक्ला रिटायर हुये थे।

लेफ्टिनेंट जनरल राज शुक्ला उस वक्त आर्मी ट्रेनिंग कमांड की कमान संभाल रहे थे और उनके रिटायर होने पर अब लेफ्टिनेंट जनरल एस.एस. महल उस पद पर हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia