घर से काम करना रहा फायदेमंद, लोगों ने हर महीने बचाए इतने पैसे, जानें वर्क फ्रॉम होम पर क्या है लोगों की राय

कोविड-19 के कारण देश भर में जारी लॉकडाउन के कारण घर से काम करते हुए तीन में से एक भारतीय ने हर महीने औसतन 3000 से 5000 रुपये बचाए। एक सर्वे में मंगलवार को कहा गया है कि घर से काम करते हुए लोगों ने आने-जाने, कपड़े, खाने और कई अन्य मदों में पैसे बचाए।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

कोविड-19 के कारण देश भर में जारी लॉकडाउन के कारण घर से काम करते हुए तीन में से एक भारतीय ने हर महीने औसतन 3000 से 5000 रुपये बचाए। एक सर्वे में मंगलवार को कहा गया है कि घर से काम करते हुए लोगों ने आने-जाने, कपड़े, खाने और कई अन्य मदों में पैसे बचाए।

ऑनलाइन सर्वे में शामिल 74 फीसदी लोगों ने कहा कि वे घर से काम करने के लिए तैयार हैं जबकि 80 फीसदी का मानना था कि उनका जॉब रोल घर से काम करने के लिए उपयुक्त है।
यह सर्वे भारत के सबसे बड़े होमग्रोन फ्लेक्स वर्कप्लेस प्रोवाइडर-ऑफिस ने कराया है।


यह सर्वे दो महीने (जून और जुलाई) के दौरान लोगों की राय पर आधारित है और इसमें सात मेट्रो शहरों के साथ-साथ डाइवर्स इंडस्ट्रीज के 1000 से अधिक इम्प्लाइज को शामिल किया गया है।

सर्वे के मुताबिक 47 फीसदी लोगों ने कहा कि घर से काम करने के दौरान उन्हें आरामदेह कुर्सी और मेज की कमी महसूस हुई जबकि 71 फीसदी का मानना था कि अगर घर में काम करने की अलग जगह हो तो वो घर से काम करते हुए सफल हो सकते हैं।


करीब 60 फीसदी कर्मचारियों ने कहा कि माना कि उन्हें नियमित तौर पर दफ्तर जाने में औसतन एक घंटा लगता था। इस आधार पर घर से काम करते हुए एक कर्मचारी ने एक दिन में 1.47 घंटे का समय बचाया। इससे उसे एक साल में काम के 44 अतिरिक्त दिन मिले।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 01 Sep 2020, 5:00 PM
;