सिर्फ 6 रुपए में बिक रहे हैं फेसबुक पर आपके संदेश और फोटोज़, 12 करोड़ अकाउंट का डाटा चोरी 

फेसबुक के डेटा में फिर लगा सेंध, 81 हजार यूजर के डाटा चोरी

फेसबुक यूजर्स के डाटा चोरी होने का मामला उस समय सामने आया, जब एफ बी सेल्‍स नाम के एक यूजर ने इंटरनेट फोरम पर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वह लगभग 120 मिलियन (12 करोड़) अकाउंट्स का डाटा बेच रहा है।

यूजर्स के डेटा चोरी को लेकर पिछले लंबे समय से विवादों में छाया रहा फेसबुक फिर से सुर्खियों में है। यूजर्स का डाटा चोरी और उसके गलत इस्तेमाल को लेकर एक रिपोर्ट सामने आई है। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फेसबुक यूजर्स का डाटा चोरी होने का मामला उस समय सामने आया, जब एफ बी सेल्‍स नाम के एक यूजर ने इंटरनेट फोरम पर जानकारी दी। इस फोरम ने बताया कि वह लगभग 120 मिलियन (12 करोड़) अकाउंट्स का डाटा बेच रहा है। यह मामला इस साल सितंबर का है। इसके बाद साइबर सिक्‍योरिटी तुरंत हरकत में आ गई। साइबर सिक्यॉरिटी फर्म डिजिटल शैडोज ने जब इस मामले की जांच शुरू की, तो चौंकाने वाली बात सामने आई। जांच में पता चला कि 81 हजार अकाउंट्स को उनके प्राइवेट मेसेजेस के साथ बेचा जा रहा था।

बीबीसी की रिपोर्ट में बताया गया है कि बेचे जा रहे इन संदेशों में में न सिर्फ टेक्स्ट था, बल्कि कुछ फोटोज़ भी शामिल थी। इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि यूजर्स के निजी मैसेजेस मालवेयर वेबसाइट्स और ब्राउजर एक्सटेंशन्स से लिए गए होंगे। जिन यूजर्स के अकाउंट और मैसेजेस को बेचा जा रहा है, उनमें से ज्यादातर यूजर्स यूक्रेन और रूस के अलावा, यूके, अमेरिका, ब्राजील और अन्य हिस्सों से हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार, हैकर्स इन्हें प्रति अकाउंट 10 सेंट यानी 6 रुपये 50 पैसे में बेच रहे थे और जिस वेबसाइट पर बिक्री के लिए डेटा को पब्लिश किया गया था वह सेंट पीटर्सबर्ग में बताई जा रही है।

इस पूरे मामले पर सफाई देते हुए फेसबुक ने किसी भी तरह के अकाउंट हैक से इनकार किया है। फेसबुक के एक अधिकारी गाय रोजेन ने बीबीसी को बताया, “हम इस मामले पर ब्राउजर मेकर्स से बात कर रहे हैं। उन्हें ये सुनिश्चित करने को कहा गया है कि जिन एक्सटेंशन से यूजर्स का डेटा चुराया गया, वो अब उनके प्लेटफॉर्म से हटाए जाएं। हम इस मामले पर कानूनी एजेंसियां और लोकल अथॉरिटी से भी बात कर रहे हैं ताकि जिस वेबसाइट पर यूजर्स का डेटा बेचा जा रहा है, उसे ब्लॉक किया जा सके।”

इसे भी पढ़ें: फेसबुक में फिर आया निजता के हनन का मामला,बग की वजह से करीब डेढ़ करोड़ लोगों का डाटा हुआ सार्वजनिक

इससे पहले मई महीने में एक बग (सॉफ्टवेयर संबंधी गलती) के कारण फेसबुक के 1.4 करोड़ यूजर प्रभावित हुए थे। फेसबुक की इस भूल के कारण उसके यूजर के पोस्ट को फेसबुक पर लॉग ऑन हुए बिना भी कोई देख सकता था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें