भारत को युद्ध की धमकी देने वाले इमरान अपने ही देश में चुनौतियों से घिरे, इस शर्मनाक रिपोर्ट से पाक शर्मिंदा

पाकिस्तान में रिपोर्ट से पता चला है कि पंजाब में 652, सिंध में 458, बलूचिस्तान में 32, खैबर पख्तूनख्वा में 51 मामले सामने आए हैं। कम उम्र के बच्चों के साथ यौन उत्पीड़न के मामले इस्लामाबाद में 90, पीओके में 18, गिलगित-बाल्टिस्तान में 3 मामले सामने आए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान में इस साल जनवरी से जून के बीच 13 हजार से ज्यादा बाल यौन शोषण के मामले सामने आए हैं। एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। ‘द न्यूज इंटरनेशनल’ की शनिवार की रिपोर्ट के अनुसार, गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) साहिल द्वारा संकलित रिपोर्ट में कहा गया है कि इस अवधि में 729 लड़कियों और 575 लड़कों ने किसी न किसी प्रकार के यौन उत्पीड़न का सामना किया।

रिपोर्ट से इस बात का पता चला कि पंजाब में 652, सिंध में 458, बलूचिस्तान में 32, जबकि खैबर पख्तूनख्वा में 51 मामले सामने आए हैं। इस बीच, कम उम्र के बच्चों के साथ यौन उत्पीड़न के मामले इस्लामाबाद में 90, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 18 और गिलगित-बाल्टिस्तान में तीन हैं।

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि सिर्फ लाहौर में 50 बच्चे यौन उत्पीड़न का शिकार बने। यह भी खुलासा हुआ है कि 12 नाबालिग लड़कियां और लड़के मदरसों में यौन उत्पीड़न का शिकार बने।

कसूर के चुनियान क्षेत्र से लापता चार बच्चों में से तीन के अवशेष मंगलवार को पाए जाने के बाद यह रिपोर्ट आई है। पुलिस ने कहा कि तीनों पीड़ितों के साथ दफनाने से पहले दुष्कर्म किया गया था। कसूर पुलिस ने कहा था कि लापता हुए चार बच्चों में से सिर्फ एक का शव बरामद किया गया है, जबकि अन्य दो के अवशेष मिले हैं, जिन्हें डीएनए परीक्षण के लिए भेजा जाएगा। उसी शहर से गुरुवार रात एक और बच्चे का अपहरण कर लिया गया। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Published: 21 Sep 2019, 11:24 AM
लोकप्रिय