यूक्रेन के मारियुपोल में रूसी सैनिकों का तांडव! ड्रामा थिएटर को बम विस्फोट से उड़ाया, '300 लोगों की मौत'

यूक्रेन के मारियुपोल शहर में 16 मार्च को ड्रामा थिएटर में हुए बम विस्फोट में कम से कम 300 लोगों के मारे जाने की जानकारी सामने आई है। मारियुपोल शहर को रूसी सैनिकों ने घेर रखा है, जहां से धमाकों की कई खबरें सामने आ चुकी हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

यूक्रेन के मारियुपोल शहर में 16 मार्च को ड्रामा थिएटर में हुए बम विस्फोट में कम से कम 300 लोगों के मारे जाने की जानकारी सामने आई है। मारियुपोल शहर को रूसी सैनिकों ने घेर रखा है, जहां से धमाकों की कई खबरें सामने आ चुकी हैं। द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

बताया जा रहा है कि लगभग 1,300 लोग इमारत में शरण लिए हुए थे और हमले के तुरंत बाद केवल 150 बचे लोग मलबे से बाहर निकल पाए थे। सूत्रों ने कहा कि थिएटर में मौजूद अधिकांश लोग स्टेज के नीचे गोलाबारी से छिपे हुए थे और यह मलबा उनके बाहर निकलने में बाधा बन रहा था।

द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, मारियुपोल में कोई आपातकालीन सेवा नहीं चल रही है और थिएटर के पास भीषण लड़ाई और गोलाबारी ने बचाव के प्रयासों को रोक दिया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जमीन पर सफेद रंग से 'चिल्ड्रन' शब्द रंगे जाने के बावजूद थिएटर पर हवाई बमबारी की गई।


शुक्रवार सुबह एक बयान में, नगर परिषद के एक प्रवक्ता ने कहा कि वे त्रासदी से मरने वालों की एक नई संख्या साझा करने में सक्षम हैं। बयान में कहा गया है, "दुर्भाग्य से, हम इस दिन की शुरुआत बुरी खबर से कर रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों से मिली जानकारी से प्रतीत होता है कि एक रूसी विमान द्वारा बमबारी के परिणामस्वरूप मारियुपोल के ड्रामा थिएटर में लगभग 300 लोग मारे गए। आखरी तक मैं इस भयावहता पर विश्वास नहीं करना चाहता। अंत तक, मैं विश्वास करना चाहता हूं कि हर कोई भागने में कामयाब रहा, लेकिन जो लोग इस 'आतंकी हरकत' के वक्त इमारत के अंदर थे, उनके शब्द कुछ और ही बयां कर रहे हैं।"

उन्होंने कहा, "मारियुपोल के बीचों-बीच स्थित ड्रामा थिएटर हमेशा से शहर की पहचान रहा है। बैठकों का स्थान, तिथियां, संदर्भ का एक बिंदु आनी ए प्वाइंट ऑफ रेफरेंस। 'आप कहां हैं? मैं ड्रामा पर हूं'। हमने कितनी बार सुना या कहा है कि ड्रामा पर हैं।"

प्रवक्ता ने कहा, "अब कोई ड्रामा नहीं है। इसके स्थान पर, मारियुपोल निवासियों के लिए दर्द का एक नया बिंदु दिखाई दिया, खंडहर.. जो सैकड़ों निर्दोष लोगों के लिए अंतिम पनाहगाह बन गए।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia