दुनिया की 5 बड़ी खबरें: बलूचिस्तान के मंत्री के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज और चीन के इस विमान ने भरी पहली समुद्री उड़ान

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में एक मंत्री और उनके दो गार्डो के खिलाफ एक सोशल मीडिया एक्टिविस्ट की हत्या के सिलसिले में मामला दर्ज किया गया है। चीन में स्वदेश निर्मित तथा जल और थल दोनों सतहों पर कारगर विमान एजी600 ने सफलतापूर्वक लैंडिंग की।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बलूचिस्तान के मंत्री के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में एक मंत्री और उनके दो गार्डो के खिलाफ एक सोशल मीडिया एक्टिविस्ट की हत्या के सिलसिले में मामला दर्ज किया गया है। डॉन न्यूज के मुताबिक, अनवर जान खेतिरान की हत्या 23 जुलाई को बरखान जिले के नाहरकोट में कुछ हथियारबंद लोगों ने कर दी थी।

लेवी फोर्स के अधिकारियों ने रविवार को कहा कि अनवर जान के भाई ने मामले में प्रांतीय खाद्य एवं जनसंख्या कल्याण मंत्री सरदार अब्दुल रहमान खान खेतिरान और उनके दो गार्ड आदम खान और नादिर खान के खिलाफ शिकायत की थी। शिकायत के अनुसार, अनवर अपने क्षेत्र की सामाजिक और अन्य समस्याओं और मंत्री के अत्याचार और कथित भ्रष्टाचार के बारे में लिखते थे। वह पंजाब में एक समाचार पत्र 'नाविद पाकिस्तान' के लिए भी काम करते थे। मृतक के भाई ने आरोप लगाया कि लगभग दो महीने पहले, मंत्री ने अनवर को चेतावनी दी थी और उनसे 'पत्रकारिता का पेशा' छोड़ने के लिए कहा था।

चीन के उभयचर विमान ने सफलतापूर्वक पहली समुद्री उड़ान भरी

चीन में स्वदेश निर्मित तथा जल और थल दोनों सतहों पर कारगर विमान एजी600 उभयचर विमान 'खुलूंग' ने पूर्वी चीन के शानतोंग प्रांत के छिंगताओ शहर के समुद्र में सफलतापूर्वक लैंडिंग की। जिसने अन्य समुद्रीय उड़ान प्रशिक्षण व विमान क्षमता की पुष्टि के लिये आधार तैयार किया है। इसे दुनिया का सबसे बड़ा उभयचर विमान कहा जाता है। चीन के बड़े विमान परिवार में एक सदस्य के रूप में एजी600 का प्रयोग मुख्य तौर पर वन्य आग को बुझाने और जल में बचाव करने में किया जाएगा। यह राष्ट्रीय आपातकालीन बचाव व्यवस्था के निर्माण में एक आवश्यक विमानन उपकरण है।

अभी तक एजी600 विमान ने 360 से अधिक घंटों का उड़ान प्रशिक्षण पूरा किया है जिससे उड़ान परीक्षण से जुड़े बहुत-से डेटा प्राप्त हैं।

अमेरिका में चीनी दूतावास अस्थायी रूप से ह्यूस्टन कांसुलेट का कार्य करेगा

अमेरिका में चीनी दूतावास अस्थायी रूप से ह्यूस्टन कांसुलेट का कार्य करेगा। हाल ही में अमेरिका ने चीन से ह्यूस्टन कांसुलेट बंद करने को कहा है। इस पर चीन का कहना है कि चीन इसका कड़ा विरोध करता है। चीन अमेरिका से तुरंत इस निर्णय को रद्द करने का आह्वान करता है।

चीन ने कहा कि इस कार्रवाई से अंतर्राष्ट्रीय कानून और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी नियमावलियों और चीन-अमेरिका कौंसलर संधि के संबंधित नियमों का गंभीर रूप से उल्लंघन हुआ है और जानबूझकर चीन-अमेरिका संबंध को बर्बाद करने की कोशिश की गई है।

अमेरिका स्थित चीनी राजदूत और कांसुलेट द्विपक्षीय संबंधों के स्वस्थ व स्थिर विकास को आगे बढ़ाने और द्विपक्षीय आदान-प्रदान और मैत्री को प्रगाढ़ करने के लिए काम करते रहे हैं। अमेरिका स्थित चीनी दूतावास अस्थायी रूप से ह्यूस्टन स्थित चीनी कांसुलेट के कार्य निभाएगा और पहले की ही तरह इस क्षेत्र के लोगों की सेवा करेगा।

अमेरिका में बेरोजगार बीमा लेने वालों की संख्या 14.16 लाख

अमेरिकी श्रमिक मंत्रालय द्वारा जारी नवीनतम रिपोर्ट के मुताबिक पिछले हफ्ते अमेरिका में पहली बार बेरोजगार बीमा लेने का आवेदन देने वाले लोगों की संख्या 14.16 लाख रही। कोविड-19 के प्रकोप के बाद अमेरिका में क्रमश: 18 हफ्तों में पहली बार बेरोजोगार बीमा लेने का आवेदन देने वाले लोगों की संख्या 10 लाख से ज्यादा है। गोल्डमैन सैक्स के प्रथम अमेरिकी अर्थशास्त्री डेविड मेरिक ने कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए अमेरिका के कुछ राज्यों को और ज्यादा उपभोग गतिविधियां बंद करनी पड़ी है। जबकि आर्थिक बहाली की प्रक्रिया में बंद होने से उद्यमों और रोजगार बाजार पर लम्बे अरसे का नुकसान पहुंच सकेगा।

पाक के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण को दो भागों में बांटना चाहिए: रिपोर्ट

संदिग्ध उड़ान लाइसेंस को लेकर हाल ही में हुए विवाद के बाद पाकिस्तान की एक विशेष कैबिनेट समिति एक सरकारी योजना को अंतिम रूप देगी। जिसके तहत नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) की नियामक और परिचालन संस्थाओं को अलग करते हुए दो अलग प्राधिकरण स्थापित किए जाना है। डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, वाणिज्य और निवेश के प्रधानमंत्री के सलाहकार रजाक दाऊद की अध्यक्षता में, कैबिनेट समिति बुधवार को नागरिक उड्डयन नियामक प्राधिकरण और पाकिस्तान हवाई अड्डा प्राधिकरण बनाकर सीएए के संगठनात्मक ढांचे पर चर्चा करेगी।

एक सूत्र ने डॉन न्यूज को बताया कि सरकार की इस योजना में दो चरणों में देश के विभिन्न हवाई अड्डों की आउटसोसिर्ंग करना शामिल है। इसमें पहले चरण में निजी निवेशकों को आकर्षित करने के लिए हवाई अड्डों का निजीकरण करना और इसका लेन-देन पूरा करना है। वहीं दूसरे चरण में निजीकरण आयोग को शामिल करना और वित्तीय सलाहकार और इन्वेस्टमेंट बैंकिंग फर्मों की नियुक्ति करना है।

आईएएएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next