दुनिया की 5 बड़ी खबरें: बाइडेन से कश्मीर में हस्तक्षेप का आग्रह और शी चिनफिंग ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति से की चर्चा

पीओके के राष्ट्रपति सरदार मसूद खान ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन से "दशकों पुराने कश्मीर संघर्ष" को सुलझाने में हस्तक्षेप करने का आह्वान किया है। चीनी राष्ट्रपति ने 29 मार्च की रात श्रीलंकाई राष्ट्रपति गोटाभया राजपक्षे के साथ फोन पर बात की।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

रावलपिंडी में हमलावरों ने हिंदू मंदिर में की तोड़फोड़

रावलपिंडी के पुराना किला इलाके में स्थित 74 वर्ष पुराने एक हिंदू मंदिर में कुछ अज्ञात हमलावरों ने तोड़फोड़ की है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, मंदिर में रविवार तड़के हुई तोड़फोड़ के खिलाफ बानी गाला थाने में मामला दर्ज किया गया है।

अधिकारियों ने कहा कि मंदिर की मरम्मत की जा रही है। पिछले एक महीने से निर्माण और मरम्मत का काम चल रहा है। यह भी बताया गया कि पुनरुद्धार का काम जारी रहने के कारण मंदिर में न तो धार्मिक अनुष्ठान हो रहे थे और न ही परिसर में कोई मूर्तियां थीं।

रावलपिंडी, नॉर्दर्न जोन, इवैक्यू ट्रस्ट प्रॉपर्टी के सहायक सुरक्षा अधिकारी सैयद रजा अब्बास ने कहा, "दस से 12 लोग आए और बाहरी हिस्से में बने मंदिर के दरवाजों और सीढ़ियों पर तोड़फोड़ की, जिससे निर्माण कार्य प्रभावित हुआ।" मंदिर के प्रशासक ओम प्रकाश ने बताया कि घटना के बाद मंदिर के साथ-साथ उनके घर पर भी सुरक्षा तैनात कर दी गई है।

पीओके के राष्ट्रपति ने बाइडेन से कश्मीर में हस्तक्षेप का किया आग्रह

दुनिया की 5 बड़ी खबरें: बाइडेन से कश्मीर में हस्तक्षेप का आग्रह और शी चिनफिंग ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति से की चर्चा

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के राष्ट्रपति सरदार मसूद खान ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन से "दशकों पुराने कश्मीर संघर्ष" को सुलझाने में हस्तक्षेप करने का आह्वान किया है। एक बयान में खान ने "नए अमेरिकी प्रशासन से भारत अधिकृत जम्मू और कश्मीर (आईओजेके) के लोगों की दुर्दशा को समाप्त करने में अपनी भूमिका निभाने का आह्वान किया।"

उन्होंने अमेरिका से इस बात की भी मांग की कि वह "जनसांख्यिकी बदलने और अवैध रूप से भारतीय हिंदू आबादी बढ़ाने से रोकने के लिए" भारत को मजबूर करे। उनके हवाले से बयान में कहा गया है, "कम से कम अमेरिका, भारत को अधिकृत जम्मू और कश्मीर में भारतीय हिंदू आबादी को बढ़ाने और अधिकृत कश्मीर में निहत्थे कश्मीरियों को मारने से रोकने के लिए कह सकता है।"

शी चिनफिंग ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति से फोन पर चर्चा की

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 29 मार्च की रात श्रीलंकाई राष्ट्रपति गोटाभया राजपक्षे के साथ फोन पर बात की। शी ने कहा कि कोविड-19 महामारी पैदा होने के बाद चीन और श्रीलंका ने एक-दूसरे को मदद देकर मित्रता का नया अध्याय जोड़ा। चीन द्विपक्षीय संबंधों को बड़ा महत्व देता है और श्रीलंका के साथ द्विपक्षीय रिश्तों की रणनीतिक दिशा का अच्छा डिजाइन करेगा, ताकि चीन श्रीलंका संबंध स्थिरता से आगे बढ़ें। चीन कोविड-19 के मुकाबले में श्रीलंका को यथासंभव मदद देता रहेगा और सहयोग के नए क्षेत्रों के विस्तार पर विचार करेगा। चीन श्रीलंका के साथ कोलंबो बंदरगाह सिटी, हंबनटोटा बंदरगाह जैसी महत्वपूर्ण परियोजनाएं और उच्च गुणवत्ता से एक पट्टी एक मार्ग का निर्माण बढ़ाने को तैयार है।

शी ने बल देते हुए कहा कि चीन और श्रीलंका पीढ़ी दर पीढ़ी मैत्रीपूर्ण रणनीतिक साझेदार हैं।

अमेरिका : जॉर्ज फ्लॉयड की मौत मामले में पूर्व पुलिसकर्मी के खिलाफ ट्रायल शुरू

फोटो: IANS
फोटो: IANS

पिछले साल मई में हिरासत में अफ्रीकी-अमेरिकी व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के आरोप में मिनिपोलिस के पूर्व पुलिस अधिकारी डेरेक शॉविन के खिलाफ आधिकारिक रूप से मुकदमे की सुनवाई शुरू हो गई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, सोमवार को मुकदमे में ओपनिंग स्टेटमेंट से पहले फ्लॉयड परिवार के सदस्य और उनकी कानूनी टीम मिनिपोलिस के एक कोर्टहाउस में आठ मिनट और 46 सेकंड तक घुटने के बल झुके रहे, ठीक इतने ही समय तक शॉविन ने फ्लॉयड के गले को अपने घुटने से दबाए रखा था, जब वो बार-बार गुहार लगा रहे थे कि वह सांस नहीं ले पा रहे हैं और आखिरकार उनकी मौत हो गई।

सिविल राइट्स अटॉर्नी बेन क्रम्प ने सोमवार को अदालत के बाहर कहा, "आज एक ऐतिहासिक ट्रायल की शुरुआत हुई है, जो इस बारे में एक रेफरेंडम होगा कि सभी के लिए समानता और न्याय की तलाश में अमेरिका कितना आगे आया है।"

फ्रांस ने लीबिया में 7 साल बाद फिर से दूतावास खोला

फोटो: IANS
फोटो: IANS

फ्रांस ने सात साल बाद लीबिया में अपने दूतावास को फिर से खोल दिया है। समाचार एजेंसी डीपीए की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने योजना की घोषणा करने के एक सप्ताह बाद सोमवार को फिर से खोल दिया।

2014 में, फ्रांस ने अपने राजनयिक मिशन को ट्यूनीशिया स्थानांतरित कर दिया था। एक साल पहले लीबिया की राजधानी त्रिपोली में उसके दूतावास पर हमला हुआ था। फ्रांस लीबिया में नव निर्वाचित सरकार के लिए अपने समर्थन का संकेत देना चाहता है। प्रधानमंत्री अब्दुल-हामिद मोहम्मद डबीबेह के नेतृत्व में एक पखवाड़े यानी 15 दिन पहले शपथ ली गई थी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय