दुनिया की 5 बड़ी खबरें: BRI की आड़ में चीन- पाकिस्तान की बड़ी साजिश, जैविक युद्ध के लिए घातक तरीकों का कर रहे परीक्षण

शी जिनपिंग की बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) की आड़ में चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और पाकिस्तानी सेना के डिफेंस साइंस एंड टेक्नोलॉजी ऑर्गनाइजेशन संभावित जैविक युद्ध का विस्तार करने के लिए घातक तरीकों पर प्रयोग कर रहे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

चीन, पाकिस्तान ने संयुक्त रूप से घातक रोगजनकों का परीक्षण किया

शी जिनपिंग की बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) की आड़ में चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और पाकिस्तानी सेना के डिफेंस साइंस एंड टेक्नोलॉजी ऑर्गनाइजेशन संभावित जैविक युद्ध का विस्तार करने के लिए घातक तरीकों पर प्रयोग कर रहे हैं, जिसमें रोगजनक (पैथजन) शामिल है। एक ऑस्ट्रेलियाई खोजी मीडिया समूह द क्लैक्सन ने इस साल अगस्त में एक विशेष रिपोर्ट में खुलासा किया था कि दोनों देश पाकिस्तान में घातक 'पशु से मानव' रोगजनकों पर व्यापक शोध कार्य कर रहे हैं, जिसमें 7000 से अधिक पाकिस्तानी किसान, चरवाहे और अन्य लोगों के साथ ही 2800 से अधिक ऊंट और अन्य जानवर शामिल किए गए हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि वुहान के वैज्ञानिकों ने 2015 से पाकिस्तान के साथ मिलकर रावलपिंडी में परीक्षण किया है। यह कार्यक्रम चीन द्वारा शी की महत्वाकांक्षी बीआरआई परियोजना के तहत वित्त पोषित है।

दुनिया के कुछ सबसे घातक और सबसे संक्रामक रोगजनकों पर किए गए कम से कम पांच अध्ययनों के परिणाम-वेस्ट नाइल वायरस; एमईआरएस-कोरोनावायरस; क्रीमियन-कांगो रक्तस्रावी बुखार वायरस; थ्रोम्बोसाइटोपेनिया सिंड्रोम वायरस और चिकनगुनिया वायरस-दिसंबर 2017 और नौ मार्च, 2020 के बीच वैज्ञानिक पत्रों में प्रकाशित हुए हैं।

अफगानिस्तान ने यूएन में पहली बार सीएसडब्ल्यू सीट जीती


पहली बार, अफगानिस्तान ने चार साल के कार्यकाल के लिए संयुक्त राष्ट्र में सीएसडब्ल्यू (महिला स्थिति पर आयोग) सीट जीती है। टोलो न्यूज के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र में अफगानिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि अदेला राज ने यह घोषणा की।

उन्होंने मंगलवार को एक ट्वीट में कहा, "अफगानिस्तान आज प्रतिस्पर्धी सीएसडब्ल्यू चुनावों में सबसे ज्यादा वोटों के साथ जीता है, हमारे अंतर्राष्ट्रीय भागीदारों के साथ 19 साल पहले शुरू की गई प्रक्रिया की जीत का प्रतिनिधित्व करता है। हम अपनी महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए प्रतिबद्ध हैं। यह नए अफगानिस्तान को दर्शाने के लिए हमारी शांति वार्ता के दौरान काफी महत्वपूर्ण है।"

भारत, अफगानिस्तान और चीन सीट जीतने के प्रमुख दावेदारों में थे। यहां तक जहां भारत और अफगानिस्तान ने 54 सदस्यों के बीच मतदान में जीत हासिल की, चीन आधा वोट भी हासिल नहीं कर सका।

खलीलजाद तालिबान के साथ युद्धविराम में चाह रहे पाक की मदद

अफगानिस्तान सुलह के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि जाल्मे खलीलजाद ने सोमवार को पाकिस्तानी सैन्य और असैन्य नेतृत्व के साथ महत्वपूर्ण बैठकें करने के लिए पाकिस्तान की एक दिवसीय यात्रा की, जिससे अफगान शांति प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा सके।

अपने इस्लामाबाद प्रवास के दौरान, खलीलजाद ने रावलपिंडी में जनरल हेडक्वार्टर (जीएचक्यू) में पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से मुलाकात की। खलीलजाद ने अफगान शांति के लिए पाकिस्तान की ओर से 'ईमानदारी और बिना शर्त समर्थन' की सराहना की। उन्होंने कहा कि शांति प्रक्रिया इस्लामाबाद के समर्थन के बिना संभव नहीं होगी।

खलीलजाद के साथ अमेरिका के वरिष्ठ अधिकारियों का तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भी था। बैठक में अफगानिस्तान के लिए पाकिस्तान के विशेष प्रतिनिधि, राजदूत मोहम्मद सादिक भी मौजूद रहे।

विस्फोट में अफगान खुफिया विभाग के अधिकारी की मौत


नांगरहार प्रांत में मंगलवार को सड़क किनारे लगाए गए बम में विस्फोट के बाद अफगानिस्तान खुफिया विभाग के एक अधिकारी की मौत हो गई। इस घटना में कई लोग घायल भी हए हुए हैं। एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी।

प्रांतीय प्रवक्ता अताउल्लाह खोगीयानी ने समाचार एजेंसी सिन्हुआ को बताया, "नेशनल डायरेक्टोरेट ऑफ सिक्योरिटी का एक वाहन जलालाबाद शहर में आज सुबह अंगोर बाग इलाके से गुजर रहा था। इसी बीच वह सड़क पर लगाए गए आईईडी की चपेट में आ गया।"

खोगीयानी ने कहा कि विस्फोट में वाहन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। अब तक इस घटना की किसी दल ने जिम्मेदारी नहीं ली है।

रूसी विदेश मंत्री का बर्लिन दौरा रद्द


रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव का मंगलवार को निर्धारित बर्लिन दौरा कर दिया गया। जर्मन विदेश मंत्री हेइको मास के कामकाजी कार्यक्रम में बदलाव के कारण ऐसा किया गया।

रूस के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, सोमवार को बयान में कहा गया, "जैसा कि आप जानते हैं, रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव की बर्लिन की यात्रा का समय, साथ ही साथ रूसी-जर्मन वर्ष के वैज्ञानिक और शैक्षिक भागीदारी 2018-2020 के बर्लिन में समापन समारोह में जर्मन विदेश मंत्री हेइको मास के साथ उनकी संयुक्त भागीदारी के कार्यक्रम पर एक साल पहले 15 सितंबर सहमति व्यक्त की गई थी और और 11 अगस्त, 2020 को मास्को में वार्ता के दौरान पुष्टि की गई थी।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next