दुनिया की 5 बड़ी खबरें: नेपाल में चीनी वैक्सीन से शुरू होगा टीकाकरण और नेतन्याहू के खिलाफ भ्रष्टाचार की सुनवाई फिर से शुरू

नेपाल सरकार ने कोरोनवायरस के मामलों में बढ़ोतरी के बीच बुधवार को चीनी कोविड-19 वैक्सीन से टीकाकरण करने का फैसला किया है। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ भ्रष्टाचार की सुनवाई फिर से शुरू हो गई है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

नेपाल में चीनी वैक्सीन से शुरू होगा टीकाकरण

फोटो: IANS
फोटो: IANS

दुनियाभर में कोरोना को लेकर वैक्सीनेशन का अभियान जोरों पर है। वहीं, नेपाल सरकार ने स्वास्थ्य और जनसंख्या मंत्रालय के एक अधिकारी के हवाले से कहा है, हिमालयी देश में कोरोनवायरस के मामलों में बढ़ोतरी के बीच बुधवार को चीनी कोविड-19 वैक्सीन से टीकाकरण करने का फैसला किया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, 29 मार्च को सिनोफार्म द्वारा बनाई गई चीनी कोविड-19 टीकों की एक खेप नेपाल पहुंची थी।

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता जागेश्वर गौतम ने कहा, बुधवार से शुरू होने वाले टीकाकरण में लोगों को चीनी टीका लगाया जाएगा।

उन्होंने कहा, "चीनी सरकारी छात्रवृत्ति के तहत चीन में पढ़ने वाले छात्र, जो अभी महामारी के कारण नेपाल में फंस गए हैं, जो पढ़ाई के लिए चीन जाने की तैयारी कर रहे हैं और नेपाल और चीन के बीच सीमा पार व्यापार में शामिल लोगों को चीनी वैक्सीन लगाई जाएगी।"

येरुशलम कोर्ट में नेतन्याहू के खिलाफ भ्रष्टाचार की सुनवाई फिर से शुरू

फोटो: IANS
फोटो: IANS

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू सोमवार को येरुशलम की अदालत में लौटे, क्योंकि शुरुआती दलीलों और गवाही के साथ उनके खिलाफ भ्रष्टाचार की सुनवाई फिर से शुरू हुई। समाचार एजेंसी डीपीए ने इस आशय की जानकारी देते हुए रिपोर्ट दी है कि इजरायल के इतिहास में 71 साल के नेतन्याहू पहले मौजूदा प्रधानमंत्री हैं जो भ्रष्टाचार से जुड़ मामले का सामना कर रहे हैं। उन पर तीन अलग-अलग मामलों में रिश्वत, धोखाधड़ी और विश्वास के उल्लंघन का आरोप है।

अभियोजकों ने आरोप लगाया कि नेतन्याहू ने महंगे उपहारों को व्यवस्थित रूप से स्वीकार किया और (पत्रकारों को) फायदा देकर अपने पक्ष में मीडिया कवरेज में सुधार करने की कोशिश की।

ब्रिटेन के पीएम अंतर्राष्ट्रीय यात्रा के लिए 'ट्रैफिक लाइट सिस्टम' का अनावरण करेंगे

फोटो: IANS
फोटो: IANS

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन कोविड-19 महामारी के बीच अंतर्राष्ट्रीय यात्रा के लिए एक नई ट्रैफिक लाइट प्रणाली का अनावरण 17 मई के बाद करने वाले हैं। समाचार एजेंसी डीपीए की रिपोर्ट के अनुसार, जॉनसन सोमवार की शाम अपने संबोधन में इंग्लैंड के निवासियों के लिए लाल, अंबर और हरे रंग की प्रणाली की घोषणा करेंगे।

जॉनसन के कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया है कि प्रत्येक देश को एक रेटिंग दी जाएगी जो निर्धारित करेगी कि यात्रियों को वापसी में संगरोध (क्वारंटीन) में जाने की जरूरत होगी या नहीं।

'ग्रीन' देशों का अर्थ है कि निवासियों को प्रस्थान से पहले और बाद में कोरोनोवायरस परीक्षण करना होगा, लेकिन इंग्लैंड लौटने पर संगरोध नहीं करना होगा।

'अंबर' या 'रेड' देशों का मतलब है कि नागरिकों को परीक्षण कराना होगा और वापसी पर उन्हें संगरोध में जाना होगा।

इंडोनेशिया में भूस्खलन और बाढ़ की चपेट में आकर 100 से ज्यादा लोगों की मौत

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अधिकारियों और मीडिया रिपोटरें के अनुसार, इंडोनेशिया में पूर्वी नुसा तेंगारा प्रांत में बाढ़ और भूस्खलन की चपेट में आने से 100 से अधिक लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जनों लापता हैं। लिम्बाटा जिले के प्रमुख थॉमस ओला ने डीपीए समाचार एजेंसी को बताया, माउंट लेवोतोलो से ज्वालामुखी का मलबा रविवार को भारी बारिश के बाद घरों में घुस गया। जिसमें 20 लोग मारे गए और 60 से अधिक लापता हो गए।

उन्होंने कहा, चौदह गांव में अभी भी पूरी तरह से तबाही मची हुई हैं, सड़कें पूरी तरह से डूब चुकी हैं। उन्होंने कहा, मरने वालों की संख्या बढ़ने की संभावना है क्योंकि अभी भी गांवों से जानकारी जुटाई जा रही है।

मेट्रो टीवी समाचार चैनल की रिपोर्ट के अनुसार, प्रांत के एक अन्य हिस्से में बाढ़ और भूस्खलन के बाद रविवार को अदोनारा द्वीप के गांवों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 73 हो गई।

ईरान पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप

फोटो: IANS
फोटो: IANS

ईरान के खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने सोमवार को बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कोविड के टीके ग्लोबल एक्सेस कार्यक्रम के तहत ईरान को आवंटित किए गए खुराकों की पहली खेप तेहरान पहुंच गई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, ऑक्सफोर्ड/ एस्ट्राजेनेका कोविड-19 वैक्सीन की 7,00,000 से अधिक खुराक रविवार रात ईरान भेज दिया गया।

अब तक, ईरान को रूसी स्पुतनिक वी वैक्सीन की 5,20,000 खुराक मिली है और अगले महीनों में घरेलू टीके बनाने की योजना है।

राष्ट्रपति हसन रूहानी ने हाल ही में ईरानियों के लिए कोविड-19 टीकों की उपलब्धता में बाधा डालने के लिए वाशिंगटन के प्रतिबंधों को दोषी ठहराया था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय