दुनिया की 5 बड़ी खबरें: साइबर हमले से लगी थी ईरानी परमाणु संयंत्र में आग, जानें किस देश का था हाथ!

कुवैत के एक समाचार पत्र ने दावा किया है कि पिछले सप्ताह के दौरान ईरान की सुविधाओं पर हुए दो विस्फोटों के लिए इजरायल जिम्मेदार था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संकल्प लिया है कि सरकार किसी भी कीमत पर महत्वाकांक्षी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) परियोजना को पूरा करेगी

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

सीपीईसी को हर कीमत पर पूरा किया जाएगा : इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संकल्प लिया है कि सरकार किसी भी कीमत पर महत्वाकांक्षी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) परियोजना को पूरा करेगी और देश को इसके लाभ देगी। डॉन न्यूज के मुताबिक, खान ने सीपीईसी परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा के लिए शुक्रवार को हुई बैठक में कहा, "यह गलियारा पाकिस्तान-चीन दोस्ती की अभिव्यक्ति है और सरकार किसी भी कीमत पर इसे पूरा करेगी और हर पाकिस्तानी को इसका लाभ देगी।"

सीपीईसी को देश के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए एक उत्कृष्ट परियोजना करार देते हुए उन्होंने कहा कि विशाल बहुआयामी पहल देश के लिए उज्जवल भविष्य की गारंटी देगा। सीपीईसी प्राधिकरण के प्रदर्शन की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके कार्य और क्षमता में सुधार के लिए उपाय किए जाने चाहिए।

कोविड-19 के बीच अश्वेत अमेरिकियों, एशियाइयों के साथ नस्लभेद की आशंका अधिक

कोविड-19 महामारी के बीच एशियाई लोगों और अश्वेत अमेरिकियों के साथ अमेरिका में अन्य समूहों की तुलना में जातीयता के कारण भेदभाव होने की आशंका ज्यादा है। पीयू रिसर्च सेंटर द्वारा किए गए एक नए सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, हर 10 में से लगभग चार एशियाई और अश्वेत उत्तरदाताओं (क्रमश: 39 प्रतिशत और 38 प्रतिशत) ने कहा कि प्रकोप के दौरान लोगों ने इस तरह प्रतिक्रिया दी जैसे कि वे इन लोगों के आसपास होने के कारण असहज थे।

इसी तरह, 42 फीसदी अश्वेत वयस्कों और 36 फीसदी एशियाई मूल के अमेरिकियों ने कहा कि अगर वे सार्वजनिक रूप से मास्क पहनते हैं, तो उन्हें इस बात की चिंता रहेगी कि दूसरे लोग उन पर शक करेंगे। जबकि 23 फीसदी हिस्पैनिक वयस्कों और 5 फीसदी श्वेत नागरिकों ने भी यही चिंता जताई है।

इजरायली साइबर हमले से लगी थी ईरानी परमाणु संयंत्र स्थल में आग : रिपोर्ट

कुवैत के एक समाचार पत्र ने दावा किया है कि पिछले सप्ताह के दौरान ईरान की सुविधाओं पर हुए दो विस्फोटों के लिए इजरायल जिम्मेदार था। इन सुविधाओं में से एक यूरेनियम संवर्धन से संबंधित थी और दूसरी मिसाइल उत्पादन से संबंधित है। द टाइम्स ऑफ इजरायल के अनुसार, कुवैती समाचार पत्र अल-जरीदा ने एक अज्ञात सीनियर सोर्स का हवाला देते हुए कहा है कि एक इजरायली साइबर हमले की वजह से गुरुवार सुबह ईरान के भूमिगत नतान्ज परमाणु संवर्धन सुविधा में आग लगी और विस्फोट हुआ।

तेहरान से लगभग 250 किलोमीटर दूर दक्षिण में स्थित नतान्ज में लगभग 25 फुट कंक्रीट के नीचे दबी भूमिगत सुविधा शामिल है, जो हवाई हमलों से सुरक्षा प्रदान करती हैं। यह सुविधा एक ईंधन संवर्धन संयंत्र है, जो 100,000 वर्ग मीटर को कवर करता है।

साइट की तस्वीरों में संयंत्र के ऊपर स्थित एक इमारत को काफी नुकसान पहुंचा दर्शाया गया है, और इसकी छत स्पष्ट रूप से नष्ट हो गई थी।

पुर्तगाल ने यात्रा के लिहाज से खुद को सुरक्षित घोषित किया

यूरोपीय देश पुर्तगाल ने वैश्विक महामारी कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए किए गए बंद के बाद एक बार फिर खुद को विदेशी मेहमानों के लिए खोल दिया है।

देश के पर्यटन प्राधिकरण टूरिस्मो डी पुर्तगाल के अनुसार, देश में स्थिति सकारात्मक हो रही है और 1 जुलाई तक देश का अधिकांश हिस्सा वहां की आबादी पर न्यूनतम प्रतिबंधों के साथ खुल गया।

इसमें कहा गया है कि मई की शुरुआत से ही सक्रिय मामलों और अस्पतालों की संख्या में 50 प्रतिशत की कमी आई। वहीं आईसीयू में मरीजों की संख्या में 70 प्रतिशत की कमी आई है। यह भी कहा गया है कि मरने वालों की संख्या माइनस 70 प्रतिशत है।

डब्लूएचओ का देशों से आग्रह, जागें और कोरोना को नियंत्रित करें

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना से बुरी तरह प्रभावित देशों से आग्रह किया है कि वे जागें और वायरस के प्रसार को 'नियंत्रित' करने के लिए काम करें। डब्ल्यूएचओ के इमरजेंसी डायरेक्टर माइकल रयान ने शुक्रवार को संवाददाताओं से कहा, "लोगों को जागने की जरूरत है। डेटा झूठ नहीं बोल रहे हैं। जमीनी हालात झूठे नहीं हैं।"

डब्ल्यूएचओ के अधिकारी ने आगे कहा कि "बहुत से देश इस बात की अनदेखी कर रहे हैं कि उनके डेटा क्या बता रहे हैं।"

उन्होंने कहा, "ऐसे कई अच्छे आर्थिक कारण हैं कि देशों को अपनी अर्थव्यवस्थाओं को वापस ऑनलाइन लाने की जरूरत है। यह समझें कि आप समस्या की अनदेखी नहीं कर सकते। यह समस्या जादू से दूर नहीं होगी।"

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, शनिवार की सुबह वैश्विक स्तर पर कोविड-19 मामलों की कुल संख्या 1,10,47,217 थी, जबकि मरने वालों की संख्या बढ़कर 5,24,614 हो चुकी है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next