दुनिया की 5 बड़ी खबरें: 'पाक UNHRC में बने रहने लायक नहीं' और जानें कमला हैरिस इन फर्मो के लिए क्यों साबित होंगी बेहतर?

संयुक्त राष्ट्र वॉचडॉग ने असहिष्णु विचारों के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान पर और UNHRC में पाकिस्तान के होने पर निशाना साधा है। अमेरिका के आगामी उपराष्ट्रपति के रूप में कमला हैरिस का आगमन 'फांग या एफएएएनजी' परिवार के लिए किसी आशीर्वाद से कम नहीं है।

फोटो : IANS
फोटो : IANS
user

नवजीवन डेस्क

'पाक यूएनएचआरसी में बने रहने लायक नहीं'

एक अभूतपूर्व कदम में, संयुक्त राष्ट्र वॉचडॉग ने असहिष्णु विचारों के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान पर और संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) में पाकिस्तान के होने पर निशाना साधा है। पाकिस्तान को हाल ही में यूएनएचआरसी में फिर से चुना गया था, हलांकि देश का मानवाधिकार रिकॉर्ड दुनिया में सबसे खराब है।

दो हफ्ते पहले, एक फ्रांसीसी शिक्षक का अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के विचार पर क्लास में शार्ली एब्दो में छपे कार्टून को दिखाने पर पेरिस में एक कट्टर इस्लामिक शख्स द्वारा सिर कलम कर दिया गया था। जबकि राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने स्पष्ट कर दिया है कि फ्रांस में इस्लामिक कट्टरपंथ और आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने यह तर्क देते हुए इस घटना को उचित ठहराया कि शिक्षक ने इस्लामिक पैगंबर का कार्टून दिखा कर 'ईशनिंदा' की थी।

कमला हैरिस बड़ी तकनीक फर्मो के लिए क्यों साबित होंगी बेहतर?


दुनिया में बीते दिनों कई बड़ी तकनीकी फर्मो पर लगाम कसने के प्रयास देखे गए हैं, जिनमें अमेरिका में अविश्वसनीय जांच या यूरोपीय आयोग द्वारा तकनीकी कंपनियों को अपने संबंधित करों का भुगतान किए जाने की बात शामिल हैं। ऐसे में अमेरिका के आगामी उपराष्ट्रपति के रूप में कमला हैरिस का आगमन 'फांग या एफएएएनजी' परिवार (फेसबुक, एप्पल, एमेजॉन, नेटफ्लिक्स और गूगल) के लिए किसी आशीर्वाद से कम नहीं है। हालांकि हैरिस उन चंद लोगों में से भी एक रही हैं, जिन्होंने पिछले साल फेसबुक को तोड़ने (अलग-अलग हिस्सों में बांटने) के विचार का समर्थन किया था। उन्होंने तकनीक में सुधार और उपभोक्ताओं के डेटा के बेहतर संरक्षण की बात कही थी।

दलाई लामा ने बाइडन को दी बधाई, कहा- बहुत उम्मीदें हैं


तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने रविवार को अमेरिका के अगले राष्ट्रपति निर्वाचित हुए जो बाइडन बधाई दी और कहा कि जलवायु परिवर्तन वास्तव में दबाव डाल रहा है। उन्होंने बाइडन को पत्र लिखकर कहा, "शायद आप जानते होंगे कि मैं लंबे समय से अमेरिका में स्वतंत्रता, लोकतंत्र, धार्मिक स्वतंत्रता और कानून के शासन का प्रशंसक रहा हूं। मानवता को लोकतांत्रिक ²ष्टि और मुक्त विश्व के नेता के रूप में अमेरिका के नेतृत्व से बहुत उम्मीदें हैं। विशेष रूप से इस चुनौतीपूर्ण समय में मुझे आशा है कि आप पहले से ज्यादा शांतिपूर्ण दुनिया को आकार देने में योगदान करेंगे, जिससे गरीबी और अन्याय से पीड़ित लोगों को राहत मिलेगी। साथ ही जलवायु में परिवर्तन वास्तव में दबाव डाल रहा है और इस पर काम करना बहुत जरूरी है।"

उन्होंने आगे कहा, "कमला हैरिस को उप-राष्ट्रपति बनाने के लिए भी मैं आपकी सराहना करता हूं।"

पिछले 3 महीनों में 50 फीसदी बढ़ी अफगानिस्तान में तालिबानी हिंसा


एक नई रिपोर्ट में सामने आया है कि अफगानिस्तान में तालिबानी हिंसा पिछले तीन महीनों में 50 फीसदी तक बढ़ गई है। हिंसा की घटनाओं में इजाफा ऐसे समय हुआ है, जब दोहा में शांति वार्ता चल रही है। टोलो न्यूज के मुताबिक, स्पेशल इंस्पेक्टर जनरल फॉर रिकंस्ट्रक्शन द्वारा शनिवार को जारी रिपोर्ट में कहा गया कि बीते तीन महीनों में अफगानिस्तान में तालिबानी हिंसा में भारी वृद्धि हुई है।

अफगानिस्तान में अमेरिका और नाटो बलों के कमांडर जनरल स्कॉट मिलर का हवाला देते हुए इस रिपोर्ट में कहा गया है कि लगातार हो रही इस हिंसा ने अफगान शांति प्रक्रिया के लिए गंभीर खतरे पैदा कर दिए हैं।

म्यांमार के आम चुनावों के लिए मतदान शुरू


म्यांमार में रविवार को आम चुनाव के लिए मतदान शुरू हो गया है, जिसमें देश भर के 3.7 करोड़ मतदाता अपना उम्मीदवार चुनेंगे। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, चुनावों के लिए कुल 42,047 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जहां सारे इंतजाम कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखकर किए गए हैं। मतदान केन्द्र सुबह 6 बजे खोले गए।

केंद्रीय चुनाव आयोग के अनुसार, 1,117 संसदीय सीटों के लिए 87 राजनीतिक दलों और 260 निर्दलीय उम्मीदवारों समेत कुल 5,639 उम्मीदवार मैदान में हैं। इसमें से 1,565 उम्मीदवार हाउस ऑफ रीप्रजेंटेटिव्स (निचले सदन) के लिए, 779 उम्मीदवार हाउस ऑफ नेशनलाइट्स (उच्च सदन) के लिए, 3,112 उम्मीदवार क्षेत्रीय या राज्य विधानसभाओं के लिए और 183 जातीय अल्पसंख्यक सीटों के लिए चुनाव लड़ रहे हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next