दुनिया की 5 बड़ी खबरें: चीन में मनाया गया प्रवासी भारतीय दिवस और ये संवाददाता बना अमेरिकी संसद में हुए हिंसा का साक्षी

चीन की राजधानी पेइचिंग में 9 जनवरी को 16वां प्रवासी भारतीय दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया। अमेरिका के स्थानीय समय के अनुसार, 6 जनवरी को प्रदर्शनकारियों ने अमेरिकी संसद भवन पर हमला किया।

फोटो : IANS
फोटो : IANS
user

नवजीवन डेस्क

सीजीटीएन संवाददाता बना अमेरिकी संसद भवन में हुए हिंसक बवाल का साक्षी


अमेरिका के स्थानीय समय के अनुसार, 6 जनवरी को प्रदर्शनकारियों ने अमेरिकी संसद भवन पर हमला किया। हिंसक प्रदर्शन के दौरान स्थिति बहुत तनावपूर्ण हो गयी थी। सीजीटीएन के अमेरिका स्थित संवाददाता नाथन किंग उस दिन वहां रिपोटिर्ंग के लिए मौजूद थे। उन्होंने वीडियो के माध्यम से उस वक्त की खराब स्थिति की रिपोर्ट की। नाथन किंग के मुताबिक, उनकी टीम के सदस्यों के उपकरणों को तोड़ा गया, प्रदर्शनकारियों ने पत्रकारों पर थूका और उनका पीछा किया। सौभाग्य की बात है कि कोई संवाददाता घायल नहीं हुआ।

वीडियो में नाथन किंग ने कहा कि उन्होंने प्रदर्शनकारियों के संसद भवन में घुसने से पहले उनके क्रोध को महसूस किया। कुछ प्रदर्शनकारियों ने एक चीनी व्यक्ति को देखकर चीन विरोधी बातें कहीं।

चीन में मनाया गया प्रवासी भारतीय दिवस

चीन की राजधानी पेइचिंग में 9 जनवरी को 16वां प्रवासी भारतीय दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया। इस दौरान दूतावास के स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र में हुए आयोजन में भारतीय समुदाय के तमाम लोगों ने हिस्सा लिया। इस मौके पर डिप्टी चीफ ऑफ मिशन (डीसीएम) एक्विनो विमल ने प्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए कोविड-19 महामारी के दौरान पेश आयी चुनौतियों और सरकार के प्रयासों का जिक्र किया। साथ ही उन्होंने भारतीय समुदाय द्वारा मुसीबत की इस घड़ी में सक्रियता से एक-दूसरे के साथ जुड़े रहने के लिए आभार जताया।

न्यूजीलैंड में सामने आए 31 नए कोविड-19 मामले


न्यूजीलैंड में पिछले तीन दिनों के दौरान 31 नए कोरोनावायरस मामले सामने आए हैं। यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, हालांकि कोई नया सामुदायिक संक्रमण नहीं था, 7 जनवरी को मंत्रालय के आखिरी मीडिया बयान के बाद से प्रतिदिन न्यूजीलैंड की सीमा पर कोविड -19 के लगभग 10 नए और ऐतिहासिक मामलों का औसत रहा है, कुल 31 मामले हैं।

मंत्रालय ने बयान में कहा कि, 13 दिसंबर, 2020 से पूरे जीनोम सीक्वेंसिंग के जरिए न्यूजीलैंड की सीमा पर ब्रिटेन में सामने आए 20बी/501वाईवी1 के रूप में जाना जाने वाले वेरिएंट वाले कुल 19 कोविड -19 मामलों की पहचान की गई और दक्षिण अफ्रीका (501वाई.वी2) में पहचाने गए वेरिएंट का एक मामला सामने आया है।

अफगानिस्तान : संघर्ष के कारण 1 महीने में 18,000 परिवार विस्थापित हुए


अफगान सरकार के आंकड़ों से पता चला है कि पिछले एक महीने में छह प्रांतों में संघर्ष के कारण कम से कम 18,000 परिवार विस्थापित हुए हैं। टोलो न्यूज के मुताबिक, राज्य के आपदा प्रबंधन मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में कहा कि अगर हिंसा का मौजूदा स्तर प्रबल रहता है, तो सहायता एजेंसियां असुरक्षित क्षेत्रों में कमजोर परिवारों तक नहीं पहुंच पाएंगी।

ये प्रांत बागलान, कुंदुज, फराह, हेरात, घोर और उरुजगन हैं। मंत्रालय के अनुसार, पिछले वर्ष के दौरान लगभग 45,000 परिवारों को विस्थापित होना पड़ा था। मंत्रालय के प्रवक्ता अहमद तमीम अजीमी ने कहा, "अगर स्थिति बिगड़ी और हिंसा जारी रही, तो राहत और बचाव के प्रयासों में गंभीर चुनौतियां होंगी।"

ऑस्ट्रेलियाई कोविड वैक्सीन विज्ञापन अभियान का लक्ष्य 'सामुदायिक चिंताएं' दूर करना


ऑस्ट्रेलिया के स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट ने रविवार को कहा कि सरकार के कोरोनावायरस वैक्सीन विज्ञापन अभियान का लक्ष्य युवा महिलाओं, प्रवासियों और मूल ऑस्ट्रेलियाई लोगों की चिंताएं दूर करना है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, हंट ने कहा कि 2.4 करोड़ ऑस्ट्रेलियाई डॉलर लागत का कैम्पेन, जिसे फरवरी मध्य में टीकाकरण शुरू होने के हफ्तों पहले शुरू किया जाएगा, एक बहुत विस्तृत जानकारी वाला कार्यक्रम होगा।

सरकार द्वारा किए गए शोध में पाया गया है कि लगभग 80 प्रतिशत ऑस्ट्रेलियाई लोग थेरप्यूटिक गुड्स एडमिनिस्ट्रेशन (टीजीए) द्वारा अनुमोदित टीके प्राप्त करने के इच्छुक हैं, लेकिन 30-39 वर्ष की आयु की महिलाओं में सुरक्षा संबंधी चिंताएं होने की सबसे अधिक संभावना है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next