दुनिया की 5 बड़ी खबरें: तालिबान ने हेलमंद प्रांत में पत्रकार को बंधक बनाया और हांगकांग को लेकर अमेरिका पर भड़का चीन

स्थानीय बूस्ट रेडियो स्टेशन के प्रधान संपादक और खोस्त प्रांत स्थित घरगाह टीवी चैनल के रिपोर्टर नियामतुल्ला हेमत को हेलमंद प्रांत के नवा जिले में तालिबान लड़ाकों ने बंधक बना लिया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

तालिबान ने हेलमंद प्रांत में पत्रकार को बंधक बनाया

स्थानीय बूस्ट रेडियो स्टेशन के प्रधान संपादक और खोस्त प्रांत स्थित घरगाह टीवी चैनल के रिपोर्टर नियामतुल्ला हेमत को हेलमंद प्रांत के नवा जिले में तालिबान लड़ाकों ने बंधक बना लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नाई (अफगानिस्तान में ओपन मीडिया एडवोकेट) के प्रांतीय प्रभारी अबुल सामी घैरटमल ने कहा कि हेमत को सोमवार को नवा जिले में उनके घर से बाहर निकाला गया।

गैरातमाल ने तालिबान से अफगानिस्तान में मीडिया आउटलेट्स के साथ किए गए वादे का पालन करने और पत्रकार को जल्द से जल्द रिहा करने को कहा है। तालिबान अब हेलमंद प्रांत के सभी जिलों को नियंत्रित कर रहे हैं और प्रांतीय राजधानी लश्करगाह में अफगान राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों से लड़ रहे हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा हांगकांग से संबंधित ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने का कड़ा विरोध : चीन

फोटो: IANS
फोटो: IANS

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ छुनयिंग ने 8 अगस्त को अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा हांगकांग से संबंधित ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने को लेकर संवाददाता सम्मेलन में प्रश्नों के उत्तर दिये। उन्होंने कहा कि अमेरिका के तथाकथित ज्ञापन ने हांगकांग राष्ट्रीय सुरक्षा कानून और हांगकांग के शासन पर चीन की नीति पर हमला किया और उसे बदनाम करने की कुचेष्टा की। यह हांगकांग मामले और चीन के आंतरिक मामले में अमेरिका के क्रूर हस्तक्षेप का एक और खराब प्रदर्शन है। चीन ने इस बात को लेकर बेहद असंतोष और कड़ा विरोध जताया, और अमेरिका के सामने गंभीर रूप से मामला उठाया।

चीनी प्रवक्ता हुआ छुनयिंग ने कहा कि हांगकांग राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के निर्माण और कार्यान्वयन ने हांगकांग में कानूनी शासन में सुधार किया है, हांगकांग की सुरक्षा और स्थिरता को बहाल किया है, और हांगकांग निवासियों के वैध अधिकारों व हितों को सुनिश्चित किया है। हांगकांग के निवासियों के लिए अमेरिका का तथाकथित सुरक्षित बंदरगाह विशुद्ध रूप से अर्थहीन है। इसका असली उद्देश्य हांगकांग में चीन विरोधी अराजकता का समर्थन करना, हांगकांग की समृद्धि और स्थिरता को नष्ट करना और चीन के विकास को रोकना है।


सैमसंग प्रमुख के पैरोल के बाद चिप संयंत्र निवेश में लाएंगे तेजी

फोटो: IANS
फोटो: IANS

देश का सबसे बड़ा समूह सैमसंग समूह वैश्विक महामारी की वजह से आई कमी के बीच चिप संयंत्रों में अपना निवेश बढ़ा सकता है। और विलय और अधिग्रहण (एम एंड ए) वैधता पर विवाद के बावजूद अपने नेता के पैरोल के साथ।

न्याय मंत्रालय के तहत पैरोल बोर्ड ने घंटों की समीक्षा के बाद ली जे-योंग की जेल से रिहाई को मंजूरी दे दी, जिससे वह शुक्रवार से मुक्त हो गए है। सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के वाइस चेयरमैन जनवरी से सलाखों के पीछे हैं, जब उन्हें सियोल उच्च न्यायालय द्वारा पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्यून-हे से जुड़े रिश्वत के मामले में 2 साल जेल की सजा सुनाई गई थी।

यूरोपीय संघ ने लीबिया में बाल शिक्षा, सुरक्षा के लिए धन आवंटित किया

फोटो: IANS
फोटो: IANS

यूरोपीय संघ (ईयू) ने लीबिया में बच्चों की सुरक्षा और शिक्षा के साथ-साथ कोविड-19 टीकाकरण से संबंधित चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन के लिए 1.6 बिलियन डॉलर से अधिक का आवंटन किया है। यह जानकारी यूनिसेफ ने एक बयान में दी है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने सोमवार को बयान का हवाला देते हुए कहा, "ईयू नागरिक सुरक्षा और मानवीय सहायता - ईसीएचओ ने शिक्षा और बाल संरक्षण क्षेत्रों में मानवीय प्रतिक्रिया को मजबूत करने और कोविड -19 टीकाकरण से संबंधित चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन के लिए 1,672,874.91 डॉलर आवंटित किया है।"

यूनिसेफ के अनुसार, इस कार्यक्रम को क्षेत्र समन्वय को मजबूत करने और समर्पित संसाधनों के माध्यम से क्षेत्रीय क्षमता में निवेश के माध्यम से चलाया जाएगा।


तालिबान को पाकिस्तान से मिले लोग, हथियार और विस्फोटक

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अफगानिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में अंतर्राष्ट्रीय मामलों के प्रमुख अहमद शुजा जमाल ने कहा कि तालिबान को न सिर्फ हमारे दक्षिणी सीमांत पाकिस्तान से लोग, हथियार और विस्फोटक मिले, बल्कि डायरेक्शन भी मिला। अल जजीरा के साथ एक साक्षात्कार में, उन्होंने कहा, "इसीलिए (वे) देश भर में इस तरह के कड़े प्रतिरोध का सामना करने में सक्षम हैं।"

जमाल ने कहा कि अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों को मारने के लिए जिन कई विस्फोटक उपकरणों का इस्तेमाल किया गया था, उनमें से 80 प्रतिशत में अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल किया, जो कि उर्वरक है, लेकिन विस्फोटकों के लिए एक प्रीकर्सर भी दो पाकिस्तानी कारखानों में उत्पादित किया गया था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia