दुनिया की 5 बड़ी खबरें: ताइवान को लेकर चीन और अमेरिका में तनातनी और अफगानिस्तान के शिबरघन में 40 तालिबान आतंकवादी ढेर

अमेरिकी विदेश विभाग ने ताइवान को ऑटोमेटिक होवित्जर आर्टिलरी सिस्टम की खरीद की मंजूरी दे दी है। यह सौदा करीब 750 मिलियन डॉलर का है। अफगानिस्तान की सेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि कम से कम 40 तालिबान आतंकवादी मारे गए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चीन में महामारी पैदा होने से पहले ही विश्व में कोरोना का वजूद था

फोटो: IANS
फोटो: IANS

एक हालिया अध्ययन पेपर में कहा गया कि वर्ष 2019 में चीन में कोरोना की औपचारिक पहचान के कई हफ्ते पहले इटली में कोरोना का प्रसार हो रहा था, जिससे वायरस के स्रोत के बारे में कई सवाल उठे हैं। वास्तव में कोविड-19 महामारी की शुरूआत से ही विश्व भर के वैज्ञानिकों ने वायरस के स्रोत का अध्ययन शुरू कर दिया था।

रक्त नमूने के टेस्ट, वेस्टवॉटर की परीक्षा समेत कई चर्तुमुखी अध्ययन से पता चला है कि चीन के पहले कोरोना मामले की रिपोर्ट से पहले कोरोना विश्व के अन्य क्षेत्रों में मौजूद था। विश्व स्वास्थ्य संगठन से आयोजित कोरोना के स्रोत पर संयुक्त अनुसंधान दल के चीनी पक्ष के विशेषज्ञ ल्यांग वानन्येन ने हाल ही में बताया कि विश्व भर में वैज्ञानिक अध्ययन से जाहिर है कि यह निश्चय नहीं है कि वुहान कोरोना का जन्म स्थान है।

अगर अमेरिका ताइवान को हथियार बेचेगा, चीन जरूर ही जवाब देगा

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने 4 अगस्त को घोषणा की कि अमेरिकी राज्य परिषद ने हाल ही में ताइवान को 75 करोड़ अमेरिकी डॉलर वाले सैन्य सामान बेचने की योजना की पुष्टि की है। यह पहली बार है कि वर्तमान अमेरिकी सरकार ने ताइवान को सैन्य साजोसामान बेचने की घोषणा की, जिसने चीन के आंतरिक मामले में गंभीर हस्तक्षेप किया है और चीन की प्रभुसत्ता और सुरक्षा हितों को नुकसान पहुंचाया है। इसने एक चीन सिद्धांत और दोनों देशों के बीच संपन्न तीन संयुक्त विज्ञप्तियों का उल्लंघन किया है। चीन इसका डटकर विरोध करता है और घटनाक्रम के विकास के मुताबिक निश्चय ही जवाबी कार्रवाई करेगा । दोनों देशों के बीच संपन्न तीन संयुक्त विज्ञप्तियों के अनुसार अमेरिका का मानना है कि विश्व में सिर्फ एक चीन है। ताइवान चीन का एक भाग है। अमेरिका ने वादा किया है कि वह कदम ब कदम ताइवान के प्रति सैन्य साजोसामान की बिक्री कम करेगा और अंत में इस सवाल का समाधान होगा। लेकिन अमेरिकी पक्ष बार-बार संयुक्त विज्ञप्तियों की भावना का उल्लंघन करता है और तथाकथित ताइवानी विभाजन के समर्थकों को गलत संकेत देता है ,जो थाईवान जलडमरूमध्य की शांति और स्थिरता को हानि पहुंचाता है ।


नेपाल ने जून के बाद से सबसे अधिक दैनिक कोविड मामलों की सूचना दी

फोटो: IANS
फोटो: IANS

महामारी की तीसरी लहर की आशंका के बीच, नेपाल ने जून के बाद से सबसे अधिक एकल-दिवसीय कोविड -19 मामले दर्ज किए हैं, जिसे विशेषज्ञों ने प्रतिबंधात्मक उपायों में छूट के लिए जिम्मेदार ठहराया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, स्वास्थ्य और जनसंख्या मंत्रालय ने गुरुवार को 3,007 नए मामले दर्ज किए, जिससे कुल संक्रमण की संख्या बढ़कर 708,079 हो गई।

दक्षिण एशियाई देश ने पिछली बार 22 जून को 3,000 से अधिक मामले दर्ज किए थे, जब दैनिक आंकड़ा 3,703 था। मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटों में कम से कम 37 लोगों ने वायरस से दम तोड़ दिया, जिससे मरने वालों की कुल संख्या 9,994 हो गई। स्वास्थ्य और जनसंख्या मंत्रालय के प्रवक्ता कृष्ण प्रसाद पौडेल ने सिन्हुआ को बताया कि कोविड19 मामलों में हालिया पुनरुत्थान दूसरी लहर की निरंतरता हो सकती है।

अफगानिस्तान के शिबरघन शहर में 40 तालिबान आतंकवादी मारे गए

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अफगानिस्तान की सेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि कम से कम 40 तालिबान आतंकवादी मारे गए हैं और लड़ाकू विमानों द्वारा समर्थित सुरक्षा अभियान शुक्रवार को अफगानिस्तान के जवाजान प्रांत की राजधानी शिबरघन शहर में जारी है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बयान के हवाले से कहा कि लड़ाकू विमानों द्वारा समर्थित सुरक्षा बलों ने आज शिबरघन शहर पर तालिबान के हमले को नाकाम करने के लिए एक जवाबी हमले में 40 विद्रोहियों को मार गिराया और 15 अन्य को पकड़ लिया।

बयान में कहा गया है कि तालिबान विद्रोही शिबरघन शहर में घरों में घुस गए और नागरिकों को मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं। सरकारी बलों को जोड़ने से शहर को साफ होने तक विद्रोहियों को निशाना बनाना जारी रहेगा। शिबरघन के अधिकारियों और निवासियों के अनुसार तालिबान आतंकवादी शुक्रवार सुबह शहर में घुसे और मुठभेड़ जारी है।


जेफरी एपस्टीन से मिलना एक बहुत बड़ी गलती थी: बिल गेट्स

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अरबपति परोपकारी बिल गेट्स ने स्वीकार किया है कि दिवंगत यौन अपराधी जेफरी एपस्टीन से मिलना उनके जीवन की 'एक बड़ी गलती' थी। सीएनएन के साथ एक साक्षात्कार में, गेट्स ने कहा कि एपस्टीन के साथ 'कई' बैठकों ने उन्हें विश्वसनीयता दी, जो एक गलती थी। उनके अनुसार, एपस्टीन के साथ दोस्ती 'परोपकार के लिए अरबों' पाने की एक कोशिश थी।

2019 में, गेट्स ने द वॉल स्ट्रीट जर्नल को बताया कि वह एपस्टीन से मिले थे, लेकिन 'उनके साथ कोई व्यावसायिक संबंध या दोस्ती नहीं थी'। न्यूयॉर्क टाइम्स ने भी गेट्स के एक प्रवक्ता के हवाले से कहा था, "गेट्स को एपस्टीन से मुलाकात पर पछतावा होता है। वह मानते हैं कि ऐसा करने के फैसले में एक गलती थी।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia