दुनिया की 5 बड़ी खबरें: इजरायल-फिलिस्तीन हिंसा पर खुली बैठक करेगा UNSC और अब इन लोगों को मास्क पहनना जरूरी नहीं

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद रविवार को इजरायल और फिलिस्तीन के बीच बढ़ते तनाव पर चर्चा के लिए एक खुली बैठक करेगी। अमेरिका में जिन लोगों ने पूरी तरह से कोविड वैक्सीन लगवा ली है, उन्हें अब मास्क पहनने की जरूरत नहीं है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद इजरायल-फिलिस्तीन हिंसा पर खुली बैठक करेगा

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद रविवार को इजरायल और फिलिस्तीन के बीच बढ़ते तनाव पर चर्चा के लिए एक खुली बैठक करेगी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र में चीन के स्थायी प्रतिनिधि झांग जून ने ट्वीट किया कि यह बैठक रविवार सुबह 10 बजे होगी।

ट्वीट में कहा गया, "चीन कब्जे वाले फिलिस्तीनी क्षेत्र में तनाव बढ़ने को लेकर बहुत चिंतित है। यूएनएससी को अब कार्रवाई करनी चाहिए और कड़ा संदेश देना चाहिए। अफसोस है कि शुक्रवार की बैठक को एक सदस्य ने रोक दिया।" राजनयिकों ने कहा कि शुक्रवार की बैठक के प्रस्ताव को अमेरिका ने रोक दिया था।

अमेरिका : कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके लोगों को मास्क पहनना जरूरी नहीं

अमेरिका में जिन लोगों ने पूरी तरह से कोविड वैक्सीन लगवा ली है, उन्हें अब मास्क पहनने की जरूरत नहीं है। इसकी घोषणा अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ऐंड प्रीवेंशन (सीडीसी) ने की है। सीडीसी के अनुसार, अमेरिका में जिन लोगों का पूरी तरह से कोविड वैक्सीनेशन हो चुका है, उन्हें न तो मास्क पहनने की जरूरत है और न ही सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) का पालन करना जरूरी है। ऐसे लोगों को घरों के अंदर तथा बाहर और यहां तक कि भीड़भाड़ वाले स्थानों पर भी ऐसे नियमों का पालन करना जरूरी नहीं है।

सीडीसी के निदेशक रोशेल वालेंस्की ने गुरुवार को एक व्हाइट हाउस ब्रीफिंग में कहा, '' जो कोई भी पूरी तरह से वैक्सीनेट हो चुका है, वह मास्क पहने बिना या शारीरिक दूरी का पालन किए बिना किसी भी छोटी या बड़ी इनडोर या आउटडोर गतिविधियों में भाग ले सकता है। ''


चेरनोबिल संयंत्र में परमाणु प्रक्रिया नियंत्रण में: विशेषज्ञ

यूक्रेन के विशेषज्ञों के अनुसार, चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र (एनपीपी) के यूरेनियम ईंधन द्रव्यमान में विखंडन प्रतिक्रियाओं से कोई खतरा नहीं है और किसी भी तरह की आपदा की संभावना न्यूनतम है।

सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने शुक्रवार को न्यूक्लियर एंड रेडिएशन सेफ्टी के लिए स्टेट साइंटिफिक एंड टेक्निकल सेंटर के विशेषज्ञों के हवाले से बताया कि हाल ही में बनाई गई एक नई सेफ कनफाइनमेंट (एनएससी) ने चार रिएक्टर हॉल के ऊपर एक सतत निगरानी की एक आधुनिक प्रणाली से लैस है, जिसमें हर एक के लिए सुरक्षित संचालन की सीमा निर्धारित है।

शरणार्थियों को अनिश्चितकाल के लिए हिरासत में ले सकती है ऑस्ट्रेलिया सरकार

ऑस्ट्रेलियाई संसद में जो नया कानून पारित किया है उसमें सरकार को शरणार्थियों को अनिश्चित काल के लिए हिरासत में रखने का अधिकार मिल गया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, गवनिर्ंग गठबंधन और विपक्षी लेबर पार्टी गुरुवार को प्रवासन संशोधन विधेयक को कानून बनाने के लिए एकजुट हो गई।

कानून सरकार को अनिश्चित काल के लिए उन शरणार्थियों को हिरासत में लेने की शक्ति देते हैं, जिन्होंने अपना वीजा रद्द कर दिया है, और अपने मूल देश नहीं लौट सकते क्योंकि उन्हें वहां उत्पीड़न का सामना करना पड़ेगा।

कानूनी विशेषज्ञों और संसद की मानवाधिकार समिति ने कानून को लेकर गंभीर चिंता जताई है।


काबुल : मस्जिद में नमाज के दौरान हुए विस्फोट में 4 की मौत

काबुल में एक मस्जिद के अंदर हुए विस्फोट में कम से कम चार लोगों की मौत हो गई और 20 अन्य घायल हो गए, जबकि जुमे की नमाज चल रही थी, अफगान पुलिस ने ये जानकारी दी।

एक सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि मस्जिद का इमाम घायल व्यक्तियों में से एक था। अधिकारी ने कहा कि बम मस्जिद के अंदर रखा गया था। अभी तक किसी भी समूह ने विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia