नेपाल विमान हादसे में अब तक 68 लोगों की मौत की पुष्टि, प्रचंड सरकार ने सोमवार को राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया

दुर्घटनाग्रस्त विमान में कुल 68 यात्री और 4 क्रू मेंबर्स सवार थे। यात्रियों में तीन शिशु, तीन बच्चे और 62 वयस्क हैं। इन यात्रियों में 53 नेपाली, पांच भारतीय, चार रूसी, एक आयरिश, एक ऑस्ट्रेलियाई, एक अर्जेंटीना, दो कोरियाई और एक फ्रांसीसी नागिरक शामिल थे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

नेपाल के कास्की जिले में हुए भीषण विमान हादसे में जान गंवाने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। ताजा खबरों के अनुसार इस भीषण हादसे में अब तक 68 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। इस बीच नेपाल सरकार ने मृतकों के सम्मान में सोमवार को राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। उप प्रधानमंत्री बिष्णु पौडेल ने कहा कि कैबिनेट ने राष्ट्रीय त्रासदी पर शोक व्यक्त करने के लिए सोमवार को सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है।

उधर पोखरा में यति एयरलाइंस के विमान दुर्घटनास्थल से बचावकर्मियों ने अब तक 68 शव निकाले हैं। सरकार ने विमान दुर्घटना की जांच के लिए एक पांच सदस्यीय टीम का भी गठन किया है, जिसमें अधिकांश यात्रियों को मृत मान लिया गया है।

काठमांडू से पोखरा के लिए सुबह 10 बजकर 32 मिनट पर उड़ान भरने वाला येती एयरलाइंस का एटीआर 72 विमान रविवार सुबह शहर के नयागांव में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। चीनी सहायता से बने नवनिर्मित पोखरा हवाईअड्डे पर उतरने के दौरान विमान में आग लग गई। खोज और बचाव अभियान का जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड भी पोखरा जाने वाले हैं।

सहायक पुलिस उप-निरीक्षक रुद्र थापा ने काठमांडू पोस्ट को बताया कि 25 शव को पोस्टमार्टम के लिए पोखरा के विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया है। थापा ने कहा कि पुलिस को दुर्घटना के बारे में सुबह करीब 11 बजे पता चला। कास्की जिला पुलिस कार्यालय में पुलिस निरीक्षक ज्ञान बहादुर खड़का ने कहा कि बचाव अभियान जोरों पर चल रहा है।


रडार से हटने से पहले विमान ने सुबह 10.50 बजे कंट्रोल टावर से संपर्क किया। येती एयरलाइंस के प्रवक्ता सुदर्शन बरतौला ने बताया कि पुराने हवाईअड्डे और पोखरा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के बीच दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान में कुल 68 यात्री और 4 क्रू मेंबर्स सवार थे। यात्रियों में तीन शिशु, तीन बच्चे और 62 वयस्क हैं। यात्रियों में 53 नेपाली, पांच भारतीय, चार रूसी, एक आयरिश, एक ऑस्ट्रेलियाई, एक अर्जेंटीना, दो कोरियाई और एक फ्रांसीसी नागिरक शामिल थे।

सीएएएन ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि पोखरा हवाईअड्डे पर दो हेलीकॉप्टर तैनात किए गए हैं, जबकि काठमांडू में अतिरिक्त हेलिकॉप्टर तैयार हैं। पोखरा हवाईअड्डे के प्रवक्ता टेकनाथ सितौला ने राष्ट्रीय समाचार समिति को बताया कि दुर्घटना के बाद पोखरा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को आज सभी आने और जाने वाली उड़ानों के लिए बंद कर दिया गया है। स्थानीय लोगों के साथ सुरक्षाकर्मी दुर्घटनास्थल पर बचाव अभियान चला रहे हैं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट की गई तस्वीरों और वीडियो में दुर्घटनास्थल से धुएं का गुबार उठता दिख रहा है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;